कोरोना संक्रमित भी भर सकेगा पंच-सरपंच का नामांकन, इस तरह से लिया जाएगा नामांकन

कोरोना महामारी ने देश की अर्थव्यवस्था भले ही डुबो दी लेकिन नेताओं को पंच और सरपंच बनने से नहीं रोक सकेगा।

By: santosh

Published: 18 Sep 2020, 01:48 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
जयपुर। कोरोना महामारी ने देश की अर्थव्यवस्था भले ही डुबो दी लेकिन नेताओं को पंच और सरपंच बनने से नहीं रोक सकेगा। यदि कोई नेता कोरोना संक्रमित हो भी जाता है तो उसे नामांकन भरने से नहीं रोका जाएगा। अलबत्ता एहतियात और सुरक्षा साधनों का उपयोग करके उसका नामांकन जमा किया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने इस संबंध में सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए हैं।

नई व्यवस्था के अंतर्गत यदि कोई कोरोना संक्रमित नामांकन भरना चाहता है तो उसे जिला निर्वाचन अधिकारी को एक दिन पहले इसकी सूचना देनी होगी। इसके बाद नामांकन वाले दिन रिटर्निंग अधिकारी पीपीई किट पहनकर कोरोना संक्रमित उम्मीदवार का नामांकन पत्र जमा करेंगे। इसके बाद इस दस्तावेज को सेनेटाइज किया जाएगा। इस पूरी प्रक्रिया को निभाने में जो व्यय होगा, वह प्रत्याशी को वहन करना होगा।

आयोग ने पिछले दिनों सभी कलक्टरों से पूछा था कि यदि कोई उम्मीदवार कोविड पॉजिटिव होगा तो वे क्या करेंगे? किसी भी जिले से इसका स्पष्ट जवाब नहीं मिलने के बाद आयोग ने चिकित्सा विभाग से इस विषय में चर्चा की। इसके बाद गुरुवार को जिला कलक्टरों को दिशा-निर्देश दिए गए।

सभी कलक्टरों को निर्देश दिए है कि कोरोना संक्रमित प्रत्याशी के नामांकन भरने के बाद वे सीएमएचओ को इसकी सूचना उपलब्ध कराएं। सीएमएचओ ऐसे प्रत्याशी की रिपोर्ट और उसके स्वास्थ्य की पड़ताल कराएगा। कोविड की रिपोर्ट का आकलन कर जिला निर्वाचन अधिकारी को सूचना दी जाएगी।

यदि किसी तरह का कोई खतरा नहीं लगता तो कोविड पॉजिटिव को नामांकन दाखिल करने की अनुमति दी जाएगी। कोविड पॉजिटिव का नामांकन भी अलग कमरे में जमा किया जाएगा। यदि नामांकन पत्रों की जांच और नाम वापसी के समय भी कोविड पॉजिटिव उम्मीदवार मौजूद रहता है तो पूरे प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। यह सारा काम सीएमएचओ की निगरानी में होगा।

coronavirus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned