कोरोना संक्रमण: राजस्थान में जिनकी मौत हुई वे अन्य घातक बीमारियों से ग्रसित थे

जयपुर. राजस्थान में कोविड 19 संक्रमण के चलते जिन पॉजिटिव की मृत्यु हुई वे अन्य घातक बीमारियों से भी ग्रसित थे। कोरोना संक्रमण फैलने के बाद देश में मौत के मामले में पन्द्रहवें पायदान पर खड़े राजस्थान में मौत का प्रतिशत राष्ट्रीय औसत से आधे से भी कम है।

By: Subhash Raj

Published: 23 Apr 2020, 10:33 PM IST

राजस्थान में कोरोना वायरस से मौत की दर अन्य राज्यों की तुलना में काफी कम है और देश में 1.43 प्रतिशत मृत्यु दर के साथ पन्द्रहवें स्थान पर है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा का दावा है कि सरकार के बेहतरीन चिकित्सकीय प्रबंधन के चलते कोरोना से होने वाली मृत्यु दर केवल 1.43 प्रतिशत है। राज्य में जो मौतें हुई हैं वे मरीज भी कोविड-19 नहीं, अन्य घातक बीमारियों से ग्रसित थे। कोरोना से होने वाली मौतों का राष्ट्रीय प्रतिशत 3.18 है। प्रदेश में यह काफी कम है और प्रदेश देश मे 15वें स्थान पर है। राज्य में पॉजीटिव से नेगेटिव होने वाले मरीजों की दर भी अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर है। बुधवार अपराह्न दो बजे तक जांच के लिए लगभग 70 हजार सैंपल लिए जा चुके थे। अब तक 1937 कोरोना के मामले सामने आए हैं। खुशी की बात यह है कि इनमें से 407 लोग पॉजीटिव से नेगेटिव हो चुके हैं और 134 को तो अस्पताल से छुट्टी भी दी जा चुकी है। आंकड़ों के अनुसार राजस्थान में 1890 कोरोना वायरस के मामलों में 27 लोगों की मौत हो चुकी हैं जो मौतों की दर 1.43 प्रतिशत है। हालांकि देश में केरल में मौतों की दर सबसे कम है जहां 438 मरीजों में केवल तीन की मौत हुई है जो 0.68 प्रतिशत है। सबसे कम मौत के मामले में तमिलनाडु दूसरे स्थान पर है जहां 1629 मरीजों में 18 की मृत्यु हुई, जिससे मृत्यु दर 1.10 प्रतिशत रही। इसके बाद हरियाणा में इससे मृत्यु दर 1.15 प्रतिशत रही। हरियाणा में 262 मामलों में केवल तीन लोगों की मौत हुई। उड़ीसा में 83 कोरोना मामलों में मात्र एक मरीज की ही मृत्यु हुई जो 1.20 प्रतिशत है। जम्मू-कश्मीर में 407 मामलों में पांच लोगों की मौत हुई जो 1.23 प्रतिशत है। इसके अलावा बिहार में भी कोरोना मृत्यु दर राजस्थान से कम है जहां 143 मामलों में केवल दो लोगों की मौत हुई है जो 1.40 प्रतिशत है। देश में सबसे ज्यादा कोरोना से मौतों की दर मेघालय में दर्ज हुई जहां केवल 12 मामले सामने आए और एक मरीज की मौत हो चुकी है जो 8.33 प्रतिशत है। हालांकि देश में सबसे ज्यादा 5649 मामले महाराष्ट्र में सामने आये है जहां अब तक 269 लोगों की मौत हो चुकी है जो 4.76 प्रतिशत है। इस लिहाज से राजस्थान महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना सहित चौदह राज्यों के मुकाबले बेहतर स्थिति में है।

Subhash Raj
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned