कोरोना ने मिटाई सियासी दूरियां, नजदीक आए भाजपा-कांग्रेस

कोराना वायरस के प्रकोप ने पूरे विश्व को हिला रखा है। लोग घरों में कैद हैं और लॉक डाउन का पालन कर रहे हैं। मगर इस वायरस ने राजनीति में उन लोगों को करीब ला दिया है जो हमेशा एक-दूसरे पर आक्षेप लगाते आए हैं। कोरोना से लड़ाई लड़ने के लिए भाजपा और कांग्रेस मिलकर काम कर रहे हैं।

जयपुर।

कोराना वायरस के प्रकोप ने पूरे विश्व को हिला रखा है। लोग घरों में कैद हैं और लॉक डाउन का पालन कर रहे हैं। मगर इस वायरस ने राजनीति में उन लोगों को करीब ला दिया है जो हमेशा एक-दूसरे पर आक्षेप लगाते आए हैं। कोरोना से लड़ाई लड़ने के लिए भाजपा और कांग्रेस मिलकर काम कर रहे हैं।

भाजपा के सुझावों को कांग्रेस ने माना है तो कोरोना को लेकर सरकार के आदेशों की पालना करने के लिए भाजपा भी अपने विधायकों और नेताओं को आह्वान कर रही है। इन नजदीकियों से लोगों के मन में सवाल उठने लगे हैं कि अगर आरोप-प्रत्यारोप लगाने की बजाय दोनों दल इसी तरह मिलकर काम करें तो शायद प्रदेश का भला हो जाए।

गहलोत बोले, मैं पीएम के साथ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एक-दूसरे पर वार-पलटवार करते नजर आए हैं। गहलोत आर्थिक मंदी, राष्ट्रवाद जैसे मुद्दों को लेकर हमेशा मोदी पर तंज कसते दिखे हैं। मगर 24 मार्च की रात को जब पीएम मोदी ने पूरे देश में लॉक डाउन की घोषणा की तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर उनके इस निर्णय का स्वागत किया और कहा कि मैं पीएम मोदी का समर्थन करता हूं।

कटारिया ने की गहलोत की तारीफ

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने हमेशा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को कटघरे में खड़ा किया है। भरे मंच से कई बार भाषण के बीच में वे तू-तड़ाक पर भी आ गए, मगर मगर अब कटारिया सीएम की तारीफ करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन का निर्णय सबसे पहले हमारी सीएम अशोक गहलोत किया, जिसका अनुसरण अन्य राज्यों ने किया है।

मुख्यमंत्री मुझे सेवा का मौका देंगे तो गौरवान्वित महसूस करूंगा

राज्यसभा सांसद व भाजपा नेता किरोड़ीलाल मीणा ने दोबारा भाजपा जॉइन करने के बाद से ही गहलोत सरकार हमला बोल रखा है। रामगढ़ बांध के मामले में वे कई बार धरना दे चुके हैं और किसानों को मुआवजा दिलवाने के लिए जयपुर कूच भी कर चुके हैं। अब उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वे पेशे से डॉक्टर हैं, इस समय हर कोई अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। मुख्यमंत्री उन्हें प्रदेश के लोगों की सेवा का मौका देंगे तो वे अपने आपको गौरवान्वित महसूस करेंगे।

पहला धर्म जनसेवा

कांग्रेस प्रदेशाध्यश सचिन पायलट भी कह रहे हैं कि हम सब राजनीति करते हैं, लेकिन पहला धर्म जनसेवा का है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने राज्य सरकार से कुछ आग्रह किए थे। भाजपा के आग्रह पर पूरे प्रदेशभर के विधायक अपनी एक महीने की सैलेरी मुख्यमंत्री सहायता कोष में दान दे रहे हैं। यही नहीं सरकार की आर्थिक मदद के लिए भाजपा विधायकों ने मास्क और सेनेटाइजर की खरीद के लिए एक लाख रुपए की अनुशंषा भी संबंधित कलेक्टर को की है।

Corona virus COVID-19
Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned