कोरोना ओपीडी में 16 कोरोना संदिग्ध मरीज भर्ती, 288 की हुई जांच

- 750 बैड और 100 से अधिक गहन चिक्तिसा इकाई के बैड की व्यवस्था शुरू

फोटो मनोज जी के टेलीग्राम पर

जयपुर. कोरोना वायरस से निपटने के लिए सवाई मानसिंह अस्पताल के चरक भवन में बनाए गए कोरोना ओपीडी एवं केयर यूनिट में कोरोना संदिग्ध मरीजों की जांच और भर्ती करने की सुविधा शुरू की है। कोरोना ओपीडी के दूसरे दिन मंगलवार को 509 कोरोना संक्रमित मरीजों की ओपीडी रही। इसमें 16 कोरोना संदिग्धों को भर्ती किया गया। साथ ही 288 मरीजों की जांच की गई।
अस्पताल अधीक्षक डॉ. डी.एस. मीणा ने बताया कि इसके इलावा अस्पताल में 1582 सामान्य मरीज पंजीकृत हुए जिसमें से 79 मरीजों को भर्ती किया गया। उन्होंने बताया कि मुख्य भवन में विभिन्न के वार्डो को दूसरी जगह स्थानांतरित करते हुए वर्तमान में लगभग कुल 750 बैड और 100 से अधिक गहन चिकित्सा इकाई के बैड की व्यवस्था की जा चुकी है। अधीक्षक ने बतायाकि चरक भवन में 0141-2518802 हेल्पलाइन नंबर शुरू की है। यह 24 घंटे सेवा में रहेगी। कोरोना से संबंध में कोई भी जानकारी ले सकते हैं।

अस्पतालों में होने लगी है ब्लड की भारी कमी
डॉ. मीणा ने बताया कि वर्तमान स्थिति में रक्तदान शिविर लग नहीं पा रहे हैं। ऐसे में एसएमएस अस्पताल ही नहीं बल्कि दूसरे संबंद्ध अस्पतालों में भी मरीजों को ब्लड बैंक से ब्लड देने में काफी परेशानी आ रही है। वर्तमान हालातों में स्वयं सेवी संस्थाओं और रक्तदाताओं को ब्लड की कमी को दूर करने के लिए आगे आना जरूरी हो गया है।

25 साल में नहीं देखी ऐसी स्थिति —
स्वास्थ्य कल्याण ब्लड बैंक के निदेशक आनंद अग्रवाल ने बताया कि रक्त की इतनी मारामारी 25 साल में नहीं देखी। लोगों से अपील कर रहे हैं कि वे ज्यादा से ज्यादा रक्तदान करें ताकि जरूरतमंदों के उपचार में आसानी हो। इस समय लोगों को अस्पताल या ब्लड बैंक में आने में परेशानी हो रही है, ऐसे में ब्लड बैंकों की वेन तैयार है जो उनके घर जाकर ब्लड कलेक्ट करेगी।

आठ कोरोना पॉजिटिव भर्ती
अस्पताल प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को आइसोलेशन वार्ड में एक भी कोरोना संदिग्ध मरीज भर्ती नहीं हुआ है। वर्तमान में 8 कोरोना पॉजिटिव भर्ती हैं।

Avinash Bakolia Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned