scriptCorona Pandemic:, 103 crore assistance in Rajasthan | Corona Pandemic: राजस्थान में 14,817 बच्चों एवं विधवाओं को 103 करोड़ की सहायता | Patrika News

Corona Pandemic: राजस्थान में 14,817 बच्चों एवं विधवाओं को 103 करोड़ की सहायता

Corona Pandemic: राजस्थान मेंं कोविड से अपनों की जान गवाने वाले परिवारों को राज्य सरकार ने अब तक 103 करोड़ की सहायता दी है। इसमें 14,817 बच्चे एवं विधवाएं शामिल हैं।

जयपुर

Published: January 13, 2022 05:55:52 pm

Corona Pandemic: राजस्थान मेंं कोविड से अपनों की जान गवाने वाले परिवारों को राज्य सरकार ने अब तक 103 करोड़ की सहायता दी है। इसमें 14,817 बच्चे एवं विधवाएं शामिल हैं। ऐसे परिवारों को आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक संबल प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री कोरोना सहायता योजना, कोरोना वारियर्स सहायता योजना और एसडीआरएफ मद से अनुग्रह सहायता जैसी योजनाएं राज्य में लागू की गई हैं।

ashok_gehlot_7176851_835x547-m.jpg

182 अनाथ बच्चों को मिली सहायता

बताया जा रहा है कि राजस्थान में 25 जून, 2021 से शुरू हुई मुख्यमंत्री कोरोना सहायता योजना में अब तक 103 करोड़ रुपए से अधिक व्यय कर 14 हजार 817 बच्चों एवं विधवा महिलाओं को लाभान्वित किया गया है। योजना के तहत अब तक 182 अनाथ बच्चों को 1 करोड़ 91 लाख रुपए से अधिक, 5 हजार 640 विधवा महिलाओं के बच्चों को करीब 2 करोड़ 95 लाख और 8 हजार 995 विधवा महिलाओं को करीब 99 करोड़ रूपए की सहायता प्रदान की गई है।

18 कोरोना वारियर्स को 50-50 लाख की सहायता
कोविड की पहली लहर के दौरान ही मुख्यमंत्री ने कोरोना वारियर्स के रूप में काम कर रहे संविदा तथा मानदेय कर्मचारी के संक्रमित होने एवं इलाज के दौरान मृत्यु होने पर उनके परिवारों को 50 लाख रूपए की सहायता प्रदान करने के लिए कोरोना वारियर्स सहायता योजना लागू की थी। इस योजना के तहत अब तक 9 करोड़ रुपए व्यय कर 18 व्यक्तियों को 50-50 लाख रूपए की सहायता उपलब्ध कराई गई है।

8633 परिवारों को 50-50 हजार की अनुग्रह राशि
इसी प्रकार कोविड महामारी के कारण मृत्यु होने पर मृतकों के परिवारों को एसडीआरएफ मद से 50 हजार रुपए की अनुग्रह सहायता दिए जाने का संवेदनशील निर्णय राज्य सरकार ने किया है। निर्णय के अनुरूप अब तक 8 हजार 633 मृतकों के आश्रित परिवारों को 50 हजार रुपए प्रति परिवार के अनुसार 43 करोड़ रुपए से अधिक की राशि का भुगतान किया जा चुका है।

इस प्रकार की सहायता भी देय
योजना में अनाथ बच्चों को तात्कालिक सहायता के रूप में एकमुश्त 1 लाख रूपए एवं 18 वर्ष की आयु तक 2500 रुपए प्रतिमाह और 2000 रुपए वार्षिक सहायता देय है। साथ ही, 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 5 लाख रुपए की सहायता राशि देय है। इसी प्रकार शैक्षणिक सहायता के अन्तर्गत कक्षा 12 तक निःशुल्क शिक्षा, राजकीय आवासीय विद्यालय एवं छात्रावासों में प्राथमिकता से प्रवेश, कॉलेज में अध्ययन करने वाले विद्यार्थियों को आवासीय सुविधा के लिए अम्बेडकर डीबीटी वाउचर योजना का लाभ और मुख्यमंत्री युवा संबल योजना में बेरोजगारी भत्ते का लाभ भी प्राथमिकता से देय है। विधवा महिला को 1 लाख रूपए की तात्कालिक सहायता के साथ ही 1500 रुपए प्रतिमाह पेंशन और विधवा के बच्चों को 18 वर्ष की आयु तक 1000 रुपए प्रतिमाह एवं 2000 रुपए वार्षिक देय हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.