अखबार छूने या पढ़ने से 'CORONA' का नहीं कोई कनेक्शन, डॉक्टर्स बोले- 'न दें अफवाहों पर ध्यान'

कोरोना के खौफ के बीच ये तमाम अफवाहें लोगों को न सिर्फ भ्रमित कर रही हैं, बल्कि इस खौफ को बढ़ाने में आग में घी डालने का काम भी कर रही हैं।

By: nakul

Updated: 19 Mar 2020, 07:48 PM IST

जयपुर।

कोरोना वायरस के तेजी से फैलने को लेकर लगातार तरह-तरह की अफवाएं फैल रही हैं। कोरोना के खौफ के बीच ये तमाम अफवाहें लोगों को न सिर्फ भ्रमित कर रही हैं, बल्कि इस खौफ को बढ़ाने में आग में घी डालने का काम भी कर रही हैं।


दरअसल, कई अफवाहों के बीच कुछ ऐसी अफवाहें फ़ैल रही हैं, जिसमें कहा जा रहा है कि अखबार छूने या पढ़ने से, दूध के पैकेट के स्पर्श से या डोरबेल का स्विच दबाने से भी कोरोना वायरस फैल सकता है।


जबकि सीनियर डॉक्टर्स इन तमाम बातों को कोरी अफवाह करार दे चुके हैं। डॉक्टर्स लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने और अपने साथ ही अपने आसपास में सफाई रखने और सावधान रहने की अपील कर रहे हैं।


डॉक्टर्स का कहना है कि यह वायरस संक्रमित इंसान के छींकने और खांसने से ही होता है। डॉक्टर्स सलाह दे रहे हैं कि:-

- संक्रमित व्यक्ति से दूरी बनाकर रखें

- अपने हाथ और मुंह को बार-बार साबुन या सैनिटाइजर से धोएं और

- मुंह पर मास्क का इस्तेमाल करें तो कोरोना वायरस के फैलने से रोका जा सकता है।

डॉक्टर्स का कहना है कि अखबार पढ़ने या दूध के पैकेट से कोरोना होने जैसी अफवाहों पर ध्यान ना दें। डॉक्टर्स एहतियात बरतने की बात कहते हुए लोगों से अखबार पढ़ने के बाद अपने हाथ सैनिटाइज करने या साबुन से धोने की हिदायत ज़रूर दे रहे हैं। वहीं अगर डोर बेल स्विच का इस्तेमाल होता है तो उसके बाद भी हाथों को धोएं।


वहीं यदि बाहर से कोई भी सामान खरीद कर ला रहे हैं तो उसके बाद भी उसे ठीक से साफ कर अपने हाथों को सैनिटाइज करें या साबुन से धोएं।


इसके साथ ही मुंह पर मास्क लगाएं और अपने आसपास भी साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। इसके अलावा किसी भी बीमारी से पीड़ित मरीज से थोड़ी दूरी बनाए रखेंगे तो निश्चित तौर पर इससे बचा जा सकता है।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned