अस्पताल से भाग गए दो बांग्लादेशी संदिग्ध, पूरी रात हर खांसने छींकने वाले को धरती रही पुलिस

Side effect of Corona in Rajasthan...विदेशी होने के नोते होटल प्रबंधन ने इसकी सूचना अस्पताल प्रशासन को दी तो अस्पताल वालों ने उनको जांच के लिए बुलाया। जांच के नाम पर दोनो को भर्ती कर लिया गया तो दोनो परेशान हो गए ओर रातों रात ही वहां से भाग गए।

By: JAYANT SHARMA

Published: 07 Mar 2020, 01:01 PM IST

जयपुर
बीकानेर स्थित सरकारी अस्पताल पीबीएम में शुक्रवार को अजीब वाक्या हुआ। दरअसल बांग्लादेश से घुमने आए दो पर्यटक एक होटल में ठहरे। विदेशी होने के नोते होटल प्रबंधन ने इसकी सूचना अस्पताल प्रशासन को दी तो अस्पताल वालों ने उनको जांच के लिए बुलाया। जांच के नाम पर दोनो को भर्ती कर लिया गया तो दोनो परेशान हो गए ओर रातों रात ही वहां से भाग गए। अब परेशानी बढ गई पुलिस कि, दोनो के भागने के बारे मे जब पुलिस को सूचना दी गई तो अब पुलिस दोनो को पूरे जिले में रात भर से तलाश कर रही है। दोनो लापता हैं। नौबत यहां तक आ गई है कि अब जो भी खांसता और छिंकता हुआ पुलिस को मिल रहा है उसी से गंभीर पूछताछ की जा रही है।

जांच के लिए कहा तो भर्ती कर लिया, इसी से विवाद हो गया
पीबीएम अस्पताल अधीक्षक डा. पीके बैरवाल ने बताया कि निजी होटल में दोनो ठहरे थे। वे राजस्थान घुमने आए थे। बीकानेर पहुंचे और होटल में ठहरे थे। उनकी जांच करने की बात कही थी लेकिन वहां रेजीडेंट्स ने उनको भर्ती ही कर लिया। उनको वार्ड में ले जाया गया और जांच की तैयारी की गई। लेकिन थोड़ी देर बाद देखा तो वार्ड से दोनो गायब थे। उसके बाद हडकंप मच गया। उनकी तलाश की जा रही है।

रात भर से मारी—मारी फिर रही पुलिस
इसकी जानकारी जब पुलिस तक पहुंची तो पुलिस भी परेशान हो गई। अस्पताल के आसपास के दो तीन दिनों की पुलिस जीप लेकर दोनो बांग्लादेशियों को रात भर से तलाश कर रही है लेकिन दोनो पुलिस को नहीं मिल रहे हैं। पूछताछ के बाद पुलिस को पता चला कि उनकी लोकेशन लालगढ़ क्षेत्र में है, वहां पहुंची तो भी दोनो नहीं मिले।


खांसी जुकाम के मरीज थे बस
सूत्रों के मुताबिक दोनों बांगलादेशी पर्यटक सर्दी खांसी-जुकाम से पीड़ित है। यह दोनों आज ही जयपुर से आए थे। कोरोना वायरस को लेकर चेतावनी के बावजूद पीबीएम अस्पताल प्रशासन की लापरवाही रही कि दोनों बांगलादेशी अस्पताल से भाग गए। पीबीएम अस्पताल प्रशासन की लापरवाही का खमियाजा स्वास्थ्य विभाग को भुगतना पड़ा। सीएमएचओ डाॅ. मीणा, एडिमिनियोलाॅजिस्ट नीलम प्रताप सिंह, डाॅ. आसुराम एक दो पुलिस कर्मचारी बांगलादेशी पर्यटकों को रात 12 बजे तक तलाश कर रहे थे लेकिन पीबीएम प्रशासन का कोई अधिकारी उनके साथ नहीं था।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned