पेट्रोल की जगह डाला डीजल, कोर्ट ने लगाया हर्जाना

पेट्रोप पम्प का सेवा दोष मानते हुए लगाया 12,880 रुपए का हर्जाना

By: neha soni

Published: 28 Mar 2019, 02:10 PM IST

जयपुर।
कार में पेट्रोल की जगह डीजल डालने के मामले में जिला उपभोक्ता मंच जयपुर द्वितीय ने पेट्रोप पम्प का सेवा दोष मानते हुए 12,880 रुपए का हर्जाना लगाया है। परिवाद के अनुसार सी-स्कीम निवासी साधना गर्ग ने फरवरी 2016 में स्टेशन रोड खातीपुरा स्थित वसुंधरा फ्यूल्स पर 500 रुपए का पेट्रोल डालने के लिए कहा, लेकिन कर्मचारी ने डीजल डाल दिया। इस पर उन्होंने अपनी भूल भी मान ली मगर कर्मचारियों ने कार में से डीजल निकालने से इनकार कर दिया। इस पर साधना कार को टोचन करवाकर सर्विस सेंटर पर ले गई और टैंक साफ करवाया जिसमें कुल खर्चा 3,380 रुपए का हुआ।

Read more : बंद सरकारी दवा कंपनी होगी शुरू, 1 को बैठक

राजधानी में विश्वकर्मा औद्योगिक क्षेत्र स्थित सरकारी दवा कंपनी राजस्थान ड्रग एंड फार्मास्यूटिकल लिमिटेड (आरडीपीएल) को फिर से शुरू करने के लिए 1 अप्रेल को सचिवालय में महत्वपूर्ण बैठक होगी। चिकित्सा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अलावा उद्योग, रीको, आयुर्वेद और वित्त विभाग के अधिकारियों सहित कंपनी के प्रतिनिधियों को भी बुलाया गया है।
पत्रिका ने करीब 300 करोड़ रुपए मूल्य की प्रदेश की एक मात्र सरकारी दवा कंपनी को तीन साल से ठप कर सालाना करीब 500 करोड़ की दवाइयां निजी कंपनियों से खरीदने का मामला उठाया था। समाचार शृंखला में यह भी बताया था कि कंपनी को फिर से शुरू करने पर सरकार को दवाओं की अनुपलब्धता व आपूर्ति बीच-बीच में निजी कंपनियों की ओर से समय पर नहीं करने की समस्या से भी मुक्ति मिलेगी। कंपनी परिसर में दवा परीक्षा प्रयोगशाला, स्वाइन फ्लू दवा निर्माण की क्षमता को भी बताया गया था। एक अप्रेल को होने वाली बैठक में कंपनी को बंद करने के कारणों पर भी चर्चा की जाएगी।

Show More
neha soni
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned