कोरोना : राजस्थान के लिए गेमचेंजर होगी कोबास-8800

कोरोना के खिलाफ जंग में सबसे अहम हथियार है इसकी पहचान। कोरोना की जांच के लिए अभी उपलब्ध मशीनें पर्याप्त नहीं हैं, लेकिन अब राजस्थान एक खास जांच मशीन के सहारे बाजी पलटने की तैयारी में है।

By: chandra shekar pareek

Published: 23 Apr 2020, 07:01 PM IST

अमेरिका से अनुमोदित है कोबास-8800
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि जयपुर और जोधपुर में कोरोना संक्रमितों की जांच में तेजी लाने के लिए राज्य सरकार ने महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए कोबास-8800 मशीनों के खरीदने के आदेश दे दिए हैं। यह मशीन एफडीए (फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन, अमरीका) से अनुमोदित है। इससे जयपुर और जोधपुर जिलों में वर्तमान से लगभग 3 हजार ज्यादा जांचें की जा सकेंगी।
एक साथ हो सकते हैं दो टेस्ट
डॉ. शर्मा ने कहा कि देश में राजस्थान और तेलंगाना केवल दो ऐसे राज्य हैं, जो इस मशीन को खरीद रहे हैं। इस मशीन से आरएनए एस्ट्रक्शन और आरटी-पीसीआर दोनों टेस्ट एक साथ हो सकते हैं। इसमें ऑटोमेटिक और मैनुअली दोनों तरीके से टेस्ट हो सकेंगे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की 10 हजार जांच प्रतिदिन करने की सोच की ओर राजस्थान तेजी से बढ़ रहा है।
जिलों में भिजवाई गई जांच मशीनें
डॉ. शर्मा ने बताया कि कोरोना प्रभावित जिलों में भी जांच में तेजी लाई जा रही है। इसी के मद्देनजर भरतपुर, डूंगरपुर, पाली और बाड़मेर में आरटी-पीसीआर की मशीनों को पहुंचा दिया गया है।
उदयपुर-अजमेर को अतिरिक्त मशीनें
यही नहीं, उदयपुर और अजमेर में जांच की क्षमता बढ़ाने के लिए अतिरिक्त आरटी-पीसीआर मशीनें पहुंच चुकी हैं। भीलवाड़ा में आईसीएमआर के जरिए जांच की अनुमति मिल जाएगी। इसके अलावा जोधपुर के डेजर्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट में भी 300 जांच प्रतिदिन करवाने की सुविधा प्रारंभ हो गई है। उन्होंने कहा कि जितनी ज्यादा जांचें होंगी कोरोना की वास्तविकता का पता उतना ही जल्द चल सकेगा।
400 मेडिकल मोबाइल यूनिट पहुंची फील्ड में
चिकित्सा मंत्री ने बताया कि कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों से परेशान आमजन, गर्भवती, धात्री महिलाओं और बुजुर्ग लोगों को राहत देने और उनके घरों तक चिकित्सा सुविधा पहुंचाने के लिए शुरू की गई 400 मेडिकल मोबाइल यूनिट ने काम करना शुरू कर दिया है और चिकित्सा सेवा से वंचित लोगों का इसका लाभ मिलने लगा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसी भी व्यक्ति को स्वास्थ्य के लिहाज से परेशान होने नहीं दिया जाएगा।
407 लोग हुए पॉजीटिव से नेगेटिव
डॉ. शर्मा ने बताया कि राज्य में गुरुवार दोपहर 2 बजे तक जांच के लिए लगभग 70 हजार सैंपल लिए जा चुके थे। इनमें से 1937 को कोरोना पॉजिटिव चिह्नित किया गया है। खुशी की बात यह है कि इनमें से 407 लोग पॉजिटिव से नेगेटिव हो चुके हैं और 134 को तो डिस्चार्ज भी किया जा चुका है।

Corona virus
chandra shekar pareek Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned