जीवन रथ बचाएगा कोरोना मरीजों की जान, बेड मिलने तक मिलेगी ऑक्सीजन

अस्पताल में बेड का इंतजार कर रहे कोरोना मरीजों की जान बचाने के लिए महापौर सौम्या गुर्जर ने बुधवार को जीवन रथ की शुरुआत की। जयपुरिया अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन के साथ खड़े इस वाहन में मरीज अस्पताल में प्रवेश मिलने तक ऑक्सीजन प्राप्त कर सकेगा। महापौर के स्तर पर इस जीवन रथ की व्यवस्था की गई है।

By: Umesh Sharma

Published: 12 May 2021, 05:20 PM IST

जयपुर।

अस्पताल में बेड का इंतजार कर रहे कोरोना मरीजों की जान बचाने के लिए महापौर सौम्या गुर्जर ने बुधवार को जीवन रथ की शुरुआत की। जयपुरिया अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन के साथ खड़े इस वाहन में मरीज अस्पताल में प्रवेश मिलने तक ऑक्सीजन प्राप्त कर सकेगा। महापौर के स्तर पर इस जीवन रथ की व्यवस्था की गई है।

महापौर ने बताया कि जयपुर में एक्टिव केस बहुत अधिक संख्या में बढ़ने से कई कोविड अस्पतालों के बाहर बेड मिलने का इंतजार कर रहे हैं। इस दौरन कई मरीजों के पास ऑक्सीजन की कोई व्यवस्था नहीं है, जिसकी वजह से उनकी मौत हो रही है। जीवन रथ ऐसे ही मरीजों के लिए शुरू किया गया है। यह वाहन जयपुरिया अस्पताल के बाहर 24 घंटे रहेगा ताकि रात को भी कोई मरीज आता है और उसके पास ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं है तो वह इसका प्रयोग कर सकेगा। इसके अलावा जो पेशेंट घरों में आइसोलेट हैं उन्हें भी ऑक्सीजन उपलब्ध करवाई जा रही है। महापौर ने कहा कि नगर निगम प्रशासन को जल्द से जल्द 4 करोड़ रुपए की लागत से ऑक्सीजन प्लांट लगाने के निर्देश दिए गए हैं। आपको बता दें कि जयपुर नगर निगम ग्रेटर के ज्यादातर पार्षदों ने अपने छह महीने और महापौर ने एक साल का मानदेय कोविड की लड़ाई के लिए दिया है। इसके अलावा निगम की ओर से ऑक्सीजन सिलेंडर भी उपलब्ध कराने की घोषणा की गई है।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned