सरकार ने कोरोना महामारी में जनता को अपने हाल पर छोड़ा-चतुर्वेदी

भाजपा ने राज्य सरकार पर कोरोना महामारी के दौरान जनता को अपने हाल पर छोड़ने का आरोप लगाया है। पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने आरोप लगाया है कि एक तरफ लोगों को ऑक्सीजनयुक्त बेड की उपलब्धता नहीं हो पा रही है। लोग एंबुलेंस व सड़क पर मरने को विवश हो रहे हैं।

By: Umesh Sharma

Published: 28 Apr 2021, 04:21 PM IST

जयपुर।

भाजपा ने राज्य सरकार पर कोरोना महामारी के दौरान जनता को अपने हाल पर छोड़ने का आरोप लगाया है। पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने आरोप लगाया है कि एक तरफ लोगों को ऑक्सीजनयुक्त बेड की उपलब्धता नहीं हो पा रही है। लोग एंबुलेंस व सड़क पर मरने को विवश हो रहे हैं। आरयूएचएस, ईएसआई और जयपुरिया में नए मरीजों को भर्ती करना बंद कर दिया है, वहीं जयपुर के एसएमएस सहित गणगौरी बाजार, बनीपार्क, कांवटिया तथा सेठी कॉलोनी सैटेलाइट अस्पतालों में बेड्स आईसीयू बेड्स चिकित्सकीय उपकरण और स्टाफ होने के बाद भी सरकार इनके संसाधनों का प्रयोग नहीं कर रही है।

चतुर्वेदी ने कहा कि एसएमएस में तो ऑक्सीजन प्लांट भी लगा हुआ है। स्थिति यह है कि केवल एसएमएस में ही अभी 1100 बेड व आईसीयू बेड खाली पड़े हैं। अगी राज्य सरकार एसएकएस के आधे बेड भी कोरोना के लिए आरक्षित कर दे तो लोग इलाज के अभाव में मरने के लिए मजबूर नहीं होंगे। चतुर्वेदी ने कहा कि राज्य सरकार ने निजी चिकित्सालयों को कोविड डेडीकेटेड घोषित कर दिया है। इसके बाद इन अस्पतालों में ऑक्सीजन तथा रेमडेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता सरकार नहीं करा पा रही रही है, जिसके कारण मरीज और उनके परिजन मारे-मारे फिर रहे हैं। चतुर्वेदी ने सुझाव दिया है कि इस महामारी के समय में सरकार उपलब्ध संसाधनों का सही प्रकार से प्रबंधन और सही आवंटन की व्यवस्था भी करे।

COVID-19
Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned