2 लाख लोगों के रोजगार पर संकट

10 दिनों में रद्द हुए 1 हज़ार करोड़ के हैंडीक्राफ्ट के निर्यात आर्डर
- 80 प्रतिशत हैंडीक्राफ्ट का प्रोडक्शन रूका

By: jagmendra

Published: 22 Mar 2020, 05:39 PM IST

जोधपुर. कोरोना ने जोधपुर की अर्थित बैकबोन कहे जाने वाले हैंडीक्राफ्ट निर्यात कारोबार को पूरी तरह से हिला दिया है। इन दिनों अधिकांश हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्टर्स अपने बिजनेस को लेकर असमंजस की स्थिति में हैं। कोरोना वायरस के कारण जोधपुर के हैंडीक्राफ्ट निर्यातकों पर दोहरी मार पड रही है। एक तो कोरोना से संक्रमण का खतरा व दूसरी तरफ हैंडीक्राफ्ट के अधिकांश विदेशी बॉयर्स ने अपने ऑर्डर्स अनिश्चितकाल के लिए रद्द कर दिए हैं। इससे कई हैंडीक्राफ्ट इकाइयों में पिछले 10 दिनों से उत्पादन कार्य बंद पडा है। यूरोप के कई देशों इटली, जर्मनी, फ्रांस, स्पेन, हौलेण्ड, स्विट्जरलैंड, यूके, डेनमार्क, पोलेण्ड आदि में टोटल लोक डाउन वाली स्थिति है। लॉक डाउन होने के कारण भारत से भेजे गए हैंडीक्राफ्ट के अधिकांश कंटेनर शिपमेंन्ट पोर्ट पर ही अटके पडे हैं। कई विदेशी बायर्स ने जोधपुर के निर्यातकों से अपने ऑडर हॉल्ड पर रखवा दिए हैं। अमरीका के भी कई शहर जैसे टेक्सास, न्यूयॉर्क आदि के कुछ बायर्स ने अपने आर्डर होल्ड करवा दिए है । जोधपुर के हैंडीक्राफ्ट निर्यातकों के करीब 700 से अधिक कंटेनर्स का तैयार माल होल्ड पर है। निर्यातकों के पास आगे के लिए कोई नए ऑर्डर्स भी नहीं हैं। इससे जोधपुर के निर्यात उद्योग को बडी हानि होने की संभावना है। कई निर्यातकों का पैमेंट भी विदेशी बायरो में अटका हुआ हैं।
---

2 लाख लोगों पर रोजगार का संकट
हैंडीक्राफ्ट फैक्ट्रियों में उत्पादन कम होने व निर्यातकों के पास नए ऑर्डर्स नहीं होने से जोधपुर के हैडीक्राफ्ट उद्योग में काम करने वाले करीब 2 लाख लोगों के रोजगार पर संकट खडा हो सकता है। साथ ही जोधपुर के हैंडीक्राफ्ट उद्योग को करीब 1 हजार करोड के नुकसान की आशंका हो सकती है।

---

जोधपुर के हैंडीक्राफ्ट उद्योग की चाल कोरोना की वजह से पूरी तरह ठप हो चुकी है। हमने एसोसियेशन के माध्यम से केन्द्रीय एवं राज्य सरकार को इस स्थिति से अवगत करवा राहत पैकेज की मांग की है। हमने सरकार से निर्यातकों की बैंक लिमिट बढ़ाने व इनपुट क्रेडिट का फायदा दिलाने की अपील की है।
-डा. भरत दिनेश अध्यक्ष, जोधपुर हैंडीक्राफ्टस एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन

---
जोधपुर के हैंडीक्रॉफ्ट उद्योग पर कोरोना की वजह से सबसे बडी मन्दी आने की संभावना है। हमारे विदेशी ग्राहकों ने कोरोना का हवाला देते हुए ऑडर रदद कर दिये है । सबसे बडी मार यहा के आर्टिजनो पर बेरोजगारी की वजह बनेगी ।

हंसराज बाहेती, सीओए सदस्य, ईपीसीएच

jagmendra Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned