सावधान ! साइबर ठगों से आमजन काे कैसे बचाना है ... नहीं जानती हमारी पुलिस

सावधान ! साइबर ठगों से आमजन काे  कैसे बचाना है ... नहीं जानती हमारी पुलिस
ऑनलाइन धोखाधड़ी का नया फंडा

RAJESH MEENA | Updated: 29 Aug 2019, 11:32:54 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

साइबर ठगों से आमजन को बचाने में जयपुर कमिश्नरेट पुलिस नाकाम


cybar crime in jaipur : जयपुर। कमिश्नरेट पुलिस ( police commissioner )आमजन को साइबर ठगों ( cybar crime )से बचाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है। यहीं वजह है कि शहर में ठग रोजाना आधा दर्जन लोगों को अपना शिकार बना रहे है।

यह बात जरूर है कि सरकार ने जयपुर शहर में साइबर थाने के साथ विशेष अपराध व साइबर थाना भी खोल दिया और साथ ही मामलों की जांच की जिम्मेदारी थानों को भी दी है। लेकिन इतना कुछ होने के बाद भी साइबर ठग आमजन से उनकी गाढ़ी मेहनत की कमाई लूट रहे है। विशेष अपराध व साइबर थाने( cybar thana ) में पिछले कुछ समय में ही डेढ़ सौ से अधिक मामले दर्ज हो चुके है। लेकिन पुलिस को इनमें से केवल एक दर्जन मामलों में ही सफलता हाथ लगी है। सांगानेर थाना इलाके में ठगने के लिए एक अलग ही तरह का मामला सामने आया है। ठग ने एटीएम ( ATM )मशीन में आमजन के एटीएम कार्ड की जानकारी के लिए स्केनर चिप, कैमरा ( CCTV CAMERAS )सहित अन्य संसाधन लगा दिए।

यह संसाधन इस रूप में लगाए गए कि उसे आमजन आसानी से नहीं पकड़ सकता । इसमें चार लोगों का रिकॉर्ड भी सेव हो गया था लेकिन एक जागरूक नागरिक के चलते ठग की इस चाल का भंड़ाफोड कर दिया। विशेष बात यह भी है कि साइबर ठगों से बचाने के लिए बैंक प्रशासन भी कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है। यह जरूर है कि एक प्राइवेट बैंक ने अब दस हजार से अधिक की राशि निकालने पर ओटीपी सिस्टम को लागू करने जा रहा है। ताकि आमजन को बड़ी राशि की ठगी से बचाया जा सके। सरकारी बैंकों ( bank news )ने फिलहाल इस और कोई कदम नहीं उठाया है।
पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव का कहना है कि साइबर ठगी की वारदातों को रोकने में आमजन की जागरूकता अहम है। आमजन को जागरूक करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे है। इसके लिए सोशल मीडिया की भी मदद ली जा रही है। बैंक प्रशासन को सुरक्षा के इंतजाम करने के लिए कहा गया है। ताकि आमजन को ठगी से बचाया जा सके

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned