तूफान तौकते का असर: राजस्थान में भारी बारिश, सैकड़ों पेड़ गिरे, नागौर में बालक की मौत

चक्रवाती तूफान तौकते का असर ( Cyclone Tauktae impact ) बुधवार को राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के विभिन्न भागों में देखने को मिला।

By: santosh

Published: 20 May 2021, 09:27 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.
जयपुर। मंगलवार रात राजस्थान पंहुचे चक्रवाती तूफान तौकते का असर ( Cyclone Tauktae impact ) बुधवार को राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के विभिन्न भागों में देखने को मिला। राजधानी जयपुर में घने काले बादल छाए रहे और 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली साथ ही दिनभर बरसात का दौर जारी रहा। तापमान में भी गिरावट आने से लोगों को ठंडक का अहसास हो गया।

नागौर के मेड़ता रोड थानाक्षेत्र के ईग्यासनी ग्राम में बारिश के कारण मकान गिरने से आठ वर्षीय बालक हरेन्द्र की मौत हो गई। बालक की मां व दो बहनें घायल हो गई। उदयपुर में करीब 250 से अधिक और प्रदेश में हजारों पोल व पेड़ गिर गए। माउंट आबू, डूंगरपुर, नागौर, अजमेर, अलवर, सीकर व जयपुर में भारी बारिश हुई। कई जगह बिजली के पोल व पेड़ उखड़ गए।

मंगलवार देर रात तौकते चक्रवात के प्रभाव के कारण उदयपुर संभाग के कई इलाकों में तेज बारिश हुई। डूंगरपुर मुख्यालय से लगभग 25 किलोमीटर दूर वेंजा इलाके 232 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है। देर रात तूफान उदयपुर, राजसमंद होता हुआ अजमेर और जयपुर की ओर बढ़ गया।

अजमेर की सड़कों पर भरा पानी:
तूफान का असर अजमेर में भी नजर आया। बुधवार सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक यहां 39.2 मिमी बरसात दर्ज की गई। माउंट आबू में भी चक्रवात का असर दिखा। दिन भर बादल छाए रहे और तेज हवा के साथ बरसात हुई। झुंझुनूं में भी तूफान का असर देखने को मिला।

मंगलवार देर रात को शुरू हुई बरसात का सिलसिला जिले के कई स्थानों पर बुधवार को शाम तक जारी रहा। झुंझुनूं जिले में कुल 50 एमएम बरसात रिकॉर्ड की गई। तौकते का असर नागौर में भी देखने को मिला। दौसा में भी तूफान का असर नजर आया। रात से रुक-रुक शुरू हुई बारिश बुधवार सुबह तक भी जारी रही। सड़कों पर पानी भर निकला। बारिश से खेतों में भी पानी भर गया।

पारे में आई गिरावट:
तूफान के कारण जयपुर सहित तकरीबन सभी जगह रात के पारे में गिरावट हुई है। पाली का रात का तापमान सबसे कम 15.8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। सीकर में करीब 18 घंटों में 66 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। सीकर के दिन और रात के तापमान में भी अधिक अंतर नहीं रहा। दिन का तापमान 21 डिग्री, जबकि रात का तापमान 18.5 डिग्री सेल्सियस था। ऐसे में दिन और रात में 3.5 डिग्री का अंतर ही रहा। वहीं सीकर में 18.5 डिग्री, अजमेर 19.4 डिग्री, टोंक में 20 डिग्री,जयपुर में 20.4 डिग्री और उदयपुर में 212 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

श्रीगंगानगर में प्रभाव नहीं:
तौकते का असर श्रीगंगानगर में नहीं हुआ। यहां हवा तो चली, लेकिन बरसात नहीं हुई। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार तौकते का मार्ग प्रदेश के उत्तर पूर्व में था। ऐसे में श्रीगंगानगर में इसका असर नहीं पड़ने की संभावना मौसम विशेषज्ञों ने पहले ही जता दी थी।

प्रदेश भर में बारिश:
मौसम विभाग के मुताबिक बुधवा सुबह 8.30 बजे से शाम पांच बजे तक अजमेर में 39.2 मिमी, जयपुर 37.1 मिमी, डबोक में भी बरसात हुई। जोधपुर में 0.8 मिमी, चूरू में 0.8 मिमी, भीलवाड़ा में 3.6 मिमी, चित्तौडग़ढ़़ में 4.0 मिमी, सवाईमाधोपुर में 0.5 मिमी, धौलपुर में 0.5, करौली में 1.0 मिमी और अलवर में 66.5 मिमी और सीकर में 66.0 मिमी बरसात हुई। इससे पूर्व मंगलवार रात आठ बजे से बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे तक जयपुर में 38.5 मिमी, उदयपुर में 76मिमी, अलवर में 15.5 मिमी, सीकर में 11 मिमी,अजमेर में 75 मिमी बरसात रिकॉर्ड की गई।

आज साफ रहेगा मौसम:
मौसम विभाग के मुताबिक इस सिस्टम का असर गुरुवार सुबह तक कम हो जाएगा और गुरुवार से मौसम साफ होने लगेगा। प्रदेश में 20 और 21 मई को मौसम शुष्क रहेगा। वहीं 23 मई से एक बार फिर मौसम में बदलाव होगा और बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर जिलों में मेघगर्जन, धूलभरी आंधी के साथ अचानक 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned