पुलिस दल पर फायरिंग कर डकैत गिरोह फरार

बीहड़ में गूंजी गोलियां, पुलिस और पप्पू डकैत आमने-सामने

By: jagmendra

Published: 22 Mar 2020, 01:57 PM IST

बसई डांग थाना क्षेत्र के गांव करुआ पुरा की घटना

धौलपुर. चंबल के बीहड़ों के सन्नाटे को शनिवार को गोलियां की गूंज ने चीर दिया। बसई डांग थाना क्षेत्र के गांव करुआ पुरा में एक मंदिर पर पुलिस दल और कुख्यात डकैत पप्पू गिरोह के आमने-सामने हो गए। मुठभेड़ के दौरान डकैत गिरोह ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। जबाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। इस दौरान डकैत गिरोह मौका पाकर गांव के समीपवर्ती जंगलों में भाग निकला। पुलिस ने देर शाम तक जंगल में तलाशी अभियान भी चलाया, लेकिन गिरोह का कोई सुराग नहीं लग सका। पुलिस पर फायरिंग की सूचना पर पुलिस अधीक्षक व भरतपुर रेंज डीआईजी भी मौके पर पहुंचे।

जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि डकैत पप्पू गुर्जर (डकैत जगन का छोटा भाई) अपने गिरोह के साथ बसई डांग थाने के गांव करुआ का पुरा में एक मंदिर पर हवन व भण्डारे का आयोजन करा रहा है। सूचना पर पुलिस दल मौके पर पहुंचा। यहां पुलिस के पहुंचते हुए मंदिर पर मौजूद पप्पू गुर्जर व उसके गिरोह ने पुलिस पर फायरिंग करना शुरू कर दिया। जबाव में पुलिस ने भी फायरिंग की। इस दौरान पप्पू व उसके साथी ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए मंदिर के पीछे अरहर के खेतों के कूद गए। पुलिस दल ने उ'चाधिकारियों को सूचना देते हुए गिरोह का पीछा किया। सूचना मिलते ही सरमथुरा, नादनपुर, बाड़ी सदर एवं बसई डांग थानों की पुलिस के साथ पुलिस अधीक्षक मृदुल क'छावा भी मौके पर पहुंच गए और दस्युओं की तलाश के लिए तलाशी अभियान चलाया। पुलिस ने गांव मूतावली, करुआ का पुरा व जंगल क्षेत्र में तलाशी अभियान चलाते हुए दस्यु गिरोह की खाक छानी, लेकिन देर शाम तक पुलिस को सफलता हाथ नहीं लग सकी। भरतपुर रेंज डीआईजी लक्ष्मण गौड़ ने बसई डांग क्षेत्र के बाबू महाराज मंदिर पर पहुंचकर ड्रोन कैमरे से गिरोह की गतिविधियों के बारे में जानकारी जुटाई।

बनियान और तौलिया पहन कर भागा पप्पू

सूत्रों के अनुसार पुलिस दल ने जब मंदिर पर दबिश दी तो डकैत पप्पू गुर्जर हवन में शामिल होने के लिए नहा-धोकर आया था। अचानक पुलिस की दबिश के चलते वह बनियान और तौलिया पहनकर ही हथियारों को लेकर फरार हो गया।

जगन का छोटा भाई है पप्पू

पुलिस के आंकड़ों पर नजर डालें तो बसई डांग थाना इलाके के गांव भवूतीपुरा में रहने वाले कुख्यात डकैत जगन के तीन सगे भाई भी उसकी तरह अपराधिक गतिविधियों में शामिल हैं। जगन गुर्जर पर धौलपुर, करौली एवं सवाई माधोपुर के अलावा मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश के विभिन्न थानों पर 116 अपराधिक मामले दर्ज हैं। वहीं उसके छोटे भाई पप्पू पर विभिन्न थानों पर करीब 51 से अधिक अपराधिक मामले दर्ज हैं। जबकि जगन के भाई लाल सिंह व पान सिंह पर एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं। हाल ही में महिला से मारपीट व निर्वस्त्र करने के मामले में जगन जेल में बंद है।

50 हजार का इनामी है पप्पू
जिला पुलिस अधीक्षक मृदुल क'छावा ने बताया कि डकैत पप्पू गुर्जर बसई डांग थाने के गांव भवूती पुरा का रहने वाला है। इस पर करीब 50 हजार रूपए का इनाम घोषित है। इसके तहत सीआईडी (सीबी) जयपुर की ओर से 15 हजार, उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से 5 हजार, करौली पुलिस की ओर से एक हजार, भरतपुर पुलिस की ओर से पांच सौ रुपए तथा अपराध शाखा जयपुर की ओर से 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया हुआ है।

इनका कहना है

डकैत पप्पू व उसका गिरोह के बसई डांग थाना क्षेत्र के एक मंदिर पर छिपे होने की सूचना मिली थी। इस पर पुलिस ने दबिश दी, लेकिन डकैत फायरिंग कर गिरोह के साथ फरार हो गया। पुलिस की ओर से सर्च अभियान चलाया जा रहा है। अभियान जारी रहेगा।

- लक्ष्मण गौड़, डीआईजी, भरतपुर रेंज

jagmendra Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned