ससुर के साथ संबंधों का विरोध करने पर बहु ने सास को उतारा मौत के घाट, गिरफ्तार

जहां बहु ससुर को पिता के समान मानते थे, वहीं ससुर भी बेटी समान बहु के साथ अनैतिक संबंध बना रहे है

रिश्तों की मर्यादा अब तार-तार हो रही है। जहां बहु ससुर को पिता के समान मानते थे, वहीं ससुर भी बेटी समान बहु के साथ अनैतिक संबंध बना रहे है। ऐसा ही एक मामला राजधानी में सामने आया है। जब ससुर और बहु के अनैतिक संबंधों का विरोध सास ने किया तो योजना बनाकर उसको मार दिया।

राजधानी के हरमाड़ा थाना इलाके में एक बहु के द्वारा सास की हत्या का मामला सामने आया है। इसमें बहु और उसके पति के बीच तनाव का कारण ससुर को बताया गया है। दरअसल बेटे ने आरोप लगाया है कि उसके पिता और पत्नी के बीच अवैध संबंध थे। मां को इस बात की भनक लगी, लेकिन कभी देखा नहीं था।

बताया जा रहा है कि बेटे को घर में नहीं रुकने का ताना मां ने दिया तो बहु ने सास पर बेलन से हमला कर दिया। बेलन के वार से उसकी मौत हो गई, उधर, परिजनों ने आरोप लगाया कि बहु ने सास का गला दबा दिया।

पुलिस एडीसीपी बजरंग सिंह ने बताया कि बड़पीपली गांव में रहने वाले रीना शर्मा (30) पत्नी मनीष ने अपनी सास मन्नी देवी(55)पत्नी भंवरलाल की आपसी कहासुनी में पीट- पीट कर हत्या कर दी। लोगों की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लिया। वहीं जांच पडताल में सामने आया कि बहू का किसी से अवैध संम्बधों की बात सामने आ रही है।

वहीं एसीपी प्रियंका कुमावत ने बताया कि दोनों में काफी समय से विवाद चल रहा था। सोमवार सुबह भी इसी बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया और हाथापाई हो गई। जहां आरोपी रीना शर्मा ने सास मम्नी देवी की पीट-पीट कर उसे अधमरा कर दिया। लोगों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मन्नी देवी को कांवटियां अस्पताल में ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पूछताछ में सामने आया कि आरोपी बहु रीना शर्मा अपने पति से अलग रहकर सास-ससुर के साथ रहती थी।

थानाधिकारी रमेश सैनी ने बताया कि आरोपी बहु रीना शर्मा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। फिलहाल हत्या का पूर्ण रुप से कारण सामने नहीं आ रहा है और अभी पूरे मामले की जांच की जा रही है और जांच के बाद ही कुछ खुलासा हो पाएगा

Dinesh Gautam Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned