पिंकी के बाद अब पुष्कर भी जेल से बाहर, एसीबी ने दोनों को लाखों की रिश्वत मामले में किया था गिरफ्तार

Dausa bribe case : निलंबित आरएएस अफसर पुष्कर मित्तल को राजस्थान हाईकोर्ट से मिली जमानत, पिंकी मीना को मिल चुकी है पहले ही जमानत

By: pushpendra shekhawat

Published: 01 Apr 2021, 07:24 PM IST

जयपुर। निलंबित आरएएस पुष्कर मित्तल को राजस्थान हाईकोर्ट ने जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए हैं। मित्तल को जयपुर से गई एसीबी टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। उसके पास से रिश्वत की राशि भी बरामद हुई थी। इससे पहले एसीबी कोर्ट ने नौ फरवरी को मित्तल की जमानत याचिका खारिज कर दी थी।

आरोपी पुष्कर मित्तल ने प्रार्थना पत्र में कहा कि उसका प्रमोशन होने वाला है और उसे साजिश के तहत फंसाया गया है। उसके खिलाफ चालान पेश हो चुका है ऐसे में अब न्यायिक हिरासत में रखने का कोई उद्देश्य नहीं रहता है। वह किसी तरह की रिश्वत नहीं मांग रहा था उसने केवल उधार दिए गए पैसे लिए थे जिसको रिश्वत की राशि बताया जा रहा है।

एसीबी की तरफ से अतिरिक्त महाधिवक्ता डॉ विभूति भूषण शर्मा ने जमानत का विरोध करते हुए कह कि एसडीएम के पद पर रहते हुए रिश्वत की राशि वसूली। रिश्वत लेने का सत्यापन करने के बाद ही आरोपी को पांच लाख रुपए के साथ गिरफ्तार किया था। सोशल मीडिया पर चैट और बातचीत की ट्रांसस्क्रीप्ट से पैसे वसूलने की बात साबित होती है। उनको जमानत देने के बजाए न्यायिक अभिरक्षा में ही रखना चाहिए, ताकि भ्रष्टाचार करने वालों के बीच कड़ा संदेश जाए। दोनों पक्षों को सुनने के बाद न्यायाधीश इंद्रजीत सिंह ने चालान पेश होने के बाद जांच में अन्य आवश्यकता नहीं होने के कारण जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए।

यह है मामला

दौसा जिले में हाईवे निर्माण करने वाली कंपनी ने एसीबी में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें कहा था कि आरोपी एसडीएम काम में रुकावट नहीं डालने की एवज में रिश्वत मांग रहे हैं। इस पर एसीबी ने 13 जनवरी को कार्रवाई करते हुए एसडीएम पुष्कर मित्तल को पांच लाख रुपए लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। जबकि एसडीएम पिंकी मीणा को दस लाख रुपए रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पिंकी मीणा को पहले ही जमानत मिल चुकी है।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned