दिल्ली-जयपुर हाईवे पर एक के बाद एक भिड़े कई वाहन, दो ट्रकों में लगी भीषण आग, मचा हड़कंप

Delhi Jaipur National Highway Accident: एक के बाद एक भिड़े कई वाहन, दो ट्रकों में लगी भीषण आग, मचा हड़कंप

By: nakul

Published: 03 Jan 2019, 02:22 PM IST

जयपुर।

राजस्थान में पारा बढऩे के साथ ही प्रदेश के कई जिलों में कोहरे का असर देखने को मिल रहा है। कई जिलों में तो कोहरे की हालत इतनी खराब है कि इसकी वजह से हादसे होने लगे हैं। अलवर के बहरोड में भी कोहरे के कारण गुरुवार सुबह भीषण हादसा हुआ है।

 

यहां हुए हादसे में एक-एक कर छह वाहन टकराए और उसके बाद दो वाहनों में आग लग गई। दरअसल, अलवर के बहरोड के पास नीमराणा में दिल्ली-जयपुर हाइवे (Delhi Jaipur National Highway) पर आगे चल रहे ट्रक से पीछे आ रहा एक ट्रक टकरा गया। उसके बाद दो छोटे चौपहिया वाहन और दो ट्रक भी इनसे टकरा गए। मदद मिलने से पहले ही दो ट्रकों में आग लग गई। हादसे में छह लोग चोटिल हुए हैं।

 

सीकर में जनजीवन प्रभावित
सीकर जिले के नीमकाथाना और श्रीमाधोपुर कस्बे सहित आसपास के इलाकों में सुबह-सुबह छाया कोहरा जनजीवन प्रभावित कर रहा है। गुरुवार को भी जब लोग सुबह उठे तो चारों तरफ धुंध देखी गई। कोहरे का असर यातायात पर भी दिखाई दिया तथा सभी वाहन चालकों को अपने वाहनों को हैडलाइट जला कर सफर करना पड़ा। कोहरे के कारण वाहनों की गति भी कम रही। सुबह सर्दी एवं धुंध होने के कारण अधिकतर लोग गर्म कपड़े पहनने हुए तथा अलाव तपते नजर आए।

 

सीकर में तापमान गुरुवार को 2.2 दर्ज हुआ। जो बुधवार के 1.5 डिग्री के मुकाबले .07 डिग्री के उछाल पर रहा। लेकिन, कोहरे से सुबह दृश्यता में बेहद कमी आ गई। कई जगह तो 50 मीटर दूरी पर भी देखना मुश्किल था। जिससे वाहन चालकों को खासतौर पर खासी परेशानी झेलनी पड़ी। खास बात यह रही कि कोहरा सुबह साढे सात बजे सूर्योदय के बाद शुरू हुआ। जो करीब एक से डेढ घंटों तक छाया रहा। हालांकि साढे नौ बजे बादं धूप में तेजी से लोगों को सर्दी से राहत मिली।

 

श्रीगंगानगर में भी दिखा असर
सूरतगढ़ हाईवे पर वाहन हैड लाइट जलाकर धीमी गति से चले। इलाके में छाये घने कोहरे से जनजीवन प्रभावित रहा। सूरतगढ़ क्षेत्र में गुरुवार को करीब 10 दिन बाद घने कोहरे ने जोरदार सर्दी का फिर से एहसास करवाया।

 

लूणकरणसर में घने कोहरे से जनजीवन ठहरा
लूणकरणसर क्षेत्र में गुरुवार को घना कोहरा छाने से जनजीवन ठहर सा गया। यहां कोहरा व ओस का असर रात 12 व एक बजे ही आ गया था तथा सुबह कोहरे ने पूरे इलाके को आगोश में ले लिया है। इलाके में हाड़ कंपाने वाली सर्दी से जनजीवन अस्त व्यस्त है। सर्दी के बचाव के लिए लोग आंच का सहारा लेने को मजबूर है। कोहरे की अधिकता से NH 62 व स्टेट हाइवे 6-A पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से प्रभावित हुई है। वाहन चालकों को लाइटें जलाकर चलना पड़ रहा है। कोहरे के कारण सर्दी में ठिठुरन बढ़ने से भी लोग परेशान है।

 

कोहरे ने लूणकरणसर के रेलवे स्टेशन क्षेत्र को आगोश में ले रखा है। गाड़ियां भी देरी से पहुंच रही है। इससे यात्रियों को भी इंतजार करते हुए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कोहरे से रबी की सरसों, चना, गेहूं समेत अन्य फसलों के लिए फायदा होने की उम्मीद लगा रहे है।

 

कोहरे के आगोश में लिपटा बीकाणा
बीकानेर सहित आसपास के क्षेत्र में गुरुवार सुबह कोहरा छाया रहा है। कोहरे के चलते सुबह से ही आने जाने वाले वाहनों को लाइट जलाकर चलना पड़ा। वही कोहरे के चलते आने जाने वाली बसों को पहिये धीरे चले। सर्दी और कोहरे के चलते चाय की थड़ी में सुबह से ही लोग चाय की चुस्की लेते हुए नजर आये। साथ ही अलावा जलाकर सर्दी से बचाव के जतन किये। अलसुबह से ही कोहरे ने शहर को अपने आगोश में ले लिया। बीकानेर सहित आसपास के क्षेत्रों में भी कोहरा छाया रहा।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned