शिक्षकों का स्थानांतरण नीति बनाए जाने की मांग


दी फिर से आंदोलन की चेतावनी
प्रतिबंधित जिलों में सेवा दे रहे तृतीय श्रेणी शिक्षक
टीएसपी शिक्षक कर रहे गृह जिले में जाने की मांग

By: Rakhi Hajela

Published: 03 Mar 2021, 04:13 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India


शिक्षकों की स्थानांतरण नीति बनाए जाने सहित तृतीय श्रेणी शिक्षक और वरिष्ठ शारीरिक शिक्षकों के तबादले किए जाने की मांग को लेकर पिछले दिनों धरना देने वाले शिक्षकों ने दोबारा रणनीति बनाकर आंदोलन करने की चेतावनी दी है।
गौरतलब है कि अपनी मांग को लेकर राजस्थान शिक्षक संघ रेस्टा, राजस्थान शिक्षक संघ युवा सहित कई संगठनों ने 22 गोदाम स्थित महापड़ाव स्थल पर धरना दिया था। उनके इस धरने को अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ एकीकृत ने भी समर्थन प्रदान किया था। राजस्थान शिक्षक संघ युवा के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष गजेंद्र मोबारसा ने बताया कि प्रदेश में शिक्षकों की स्थानांतरण नीति नहीं होने के कारण शिक्षकों के स्थानांतरण नहीं हो पा रहे हैं। तृतीय श्रेणी के शिक्षक जो पिछले कई वर्षों से प्रतिबंधित जिलों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं वे स्थानांतरण नीति नहीं होने के कारण अपने गृह जिले में नहीं जा पा रहे हैं। दूसरी ओर शिक्षा मंत्री द्वितीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण के ऑप्शन फॉर्म लेने के बावजूद केवल अपने ही गृह जिले लक्ष्मणगढ़ के शिक्षकों का स्थानांतरण कर रहे हैं। दूसरे जिलों के शिक्षकों की ओर उनका कोई ध्यान नहीं है।
वहीं राजस्थान शिक्षक संघ रेस्टा के प्रदेशाध्यक्ष भैराराम चौधरी का कहना है कि टीएसपी क्षेत्र में कार्यरत शिक्षक वर्ष 2014 से अपने गृह जिले में जाने की मांग कर रहे हैं । उनसे वर्ष 2014 में ऑप्शन फॉर्म भी भरवाए लिए गए हैं। लेकिन उसके बाद भी आज तक उनके स्थानांतरण नहीं किए हैं। इससे शिक्षकों में काफी आक्रोश है। उन्होंने कहा कि सरकार को महात्मा गांधी स्कूल, विवेकानंद मॉडल स्कूल में कार्यरत वरिष्ठ अध्यापकों को भी तबादले का अवसर दिए जाने चाहिए साथ ही जिन प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक का पद रिक्त हो वहां पर भी तबादले किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि उनकी मांगों पर जल्द कार्रवाई नहीं हुई तो वह रणनीति बनाकर फिर से आंदोलन की तैयारी करेंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned