शारीरिक शिक्षकों की भर्ती किए जाने की मांग


2013 के बाद से नहीं हुई भर्ती
बीपीएड योग्यताधारी युवाओं ने किया प्रदर्शन
दी आंदोलन की चेतावनी

By: Rakhi Hajela

Updated: 09 Jan 2021, 08:21 PM IST


एक तरफ राज्य सरकार खेलों को बढ़ावा दिए जाने की बात कर रही है। खेलेगा इंडिया तभी बढ़ेगा इंडिया की बात की जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ खेलों को बढ़ावा देने के लिए शारीरिक शिक्षकों की भर्ती ही नहीं की जा रही है। ऐसे में प्रदेश में हजारों बीपीएड योग्यताधारी युवाओं के नौकरी पाने के सपने पर पानी फिरता नजर आ रहा है। यह युवा लंबे समय से भर्ती किए जाने की मांग कर रहे हैं। शनिवार को एक बार फिर राजस्थान विश्वविद्यालय में इन युवाओं ने प्रदर्शन किया और सरकार से मांग की कि वर्तमान वित्तीय में भर्ती नहीं निकाली लेकिन अगाामी बजट घोषणा में शारीरिक शिक्षकों की भर्ती को जरूर शामिल किया जाए। युवाओं ने सरकार पर दोहरा व्यवहार करने का आरोप भी लगाया।

नई शिक्षा नीति में अनिवार्य है शारीरिक शिक्षा
गौरतलब है कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में सरकार ने 43 हजार शिक्षकों की भर्ती किए जाने की घोषणा की थी इनमें 33000 पदों पर सामान्य शिक्षक और व्याख्याता श्रेणी की भती रीट के माध्यम से होगी जबकि शेष पदों पर कम्प्यूटर शिक्षक की भर्ती की जानी है जिनके कैडर निर्माण का कार्य हो चुका हैं ऐसे में अब बीपीएड योग्यताधारी युवाओं के हाथ केवल निराशा ही लगी है क्योंकि सरकार ने उनके लिए भर्ती प्रक्रिया ही नहीं निकाली। वह भी उस स्थिति में जबकि नई शिक्षा नीति में हर स्कूल में शारीरिक शिक्षा को अनिवार्य बना दिया गया है।
दी आंदोलन की चेतावनी
इन बेरोजगार युवाओं का कहना है कि यदि उनकी मांग पर सुनवाई नहीं की गई तो उन्हें मजबूरन आंदोलन का रास्ता अख्तियार करना होगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी सरकार की होगी। गौरतलब है कि अपनी इसी मांग को लेकर पहले भी यह युवा धरने प्रदर्शन आदि कर चुके हैं।

शिक्षा विभाग में शारीरिक शिक्षकों की स्थिति (शाला दर्पण के मुताबिक)
पीटीआई फस्र्ट ग्रेड : स्वीकृत पद 285, कार्यरत पद 38, रिक्त पद 247
पीटीआई सैकेंड ग्रेड: स्वीकृत पद 4268, कार्यरत पद 2421, रिक्त पद 1847
पीटीआई थर्ड ग्रेड: स्वीकृत 19150, कार्यरत 16150, रिक्त पद 3000
कुल स्वीकृत पद : 23703, कार्यरत पद : 19608, रिक्त पद : 5094

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned