scriptdemocracy by sacrifice---- | लोकतंत्र बड़े बलिदान से मिला... वोट अवश्य डालें और अच्छे प्रतिनिधि व अच्छी सरकार चुनें | Patrika News

लोकतंत्र बड़े बलिदान से मिला... वोट अवश्य डालें और अच्छे प्रतिनिधि व अच्छी सरकार चुनें

locationजयपुरPublished: Nov 25, 2023 01:43:43 am

Submitted by:

Shailendra Agarwal

पत्रिका के लिए खास

देश के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ओ.पी. रावत बता रहे हैं क्यों जरूरी है वोट पर परिपक्व फैसला

o_p_rawat.jpg
लोकतंत्र हमें बहुत ही बलिदान के बाद प्राप्त हुआ, इसका अपना महत्व है। हमारे यहां लोकतंत्र मजबूत है, अडोस-पडोस के देशों में देखा जाए तो वहां लोकतंत्र कमजोर दिख रहा है। इस कारण उसकी रक्षा करना हर मतदाता का कर्त्तव्य है। आवश्यक है कि हर मतदाता सूझबूझ के साथ मतदान करे और भारी संख्या में मतदान सुनिश्चित करें। हम सब का यह ही प्रयास हो कि अच्छे प्रतिनिधि और अच्छी सरकार चुनकर आए।
मतदाता स्वयं परिपक्वता से स्वतंत्र निर्णय ले

मतदाता को यह बताने की आवश्यकता नहीं है कि मतदान के समय वह क्या ध्यान रखे? हर मतदाता सब जानता है और मतदान के बारे में उसका स्वयं का परिपक्व और स्वतंत्र निर्णय होना चाहिए। अब मतदाता जागरूक हो गया है और मतदाता स्वयं अच्छा निर्णय कर सकता है। एक बार की बात बताता हूं ओडिसा में दो चुनाव एक साथ होने थे और दो ईवीएम एकसाथ रखीं थी, मतदाता ने एक ईवीएम में राज्य की सत्ता के लिए वोट डाला और दूसरी ईवीएम के लिए केन्द्रीय दल को चुना गया।
कहीं लिखा नहीं मिलता अच्छे प्रतिनिधि-अच्छी सरकार

कौन अच्छा प्रतिनिधि है और कौनसी सरकार अच्छी है। इस बारे में हर मतदाता स्वयं जागरूक है। उसे न तो इस बारे में कुछ बताने की आवश्यकता है, न ही मैं कुछ कह सकता हूं और न ही अच्छे प्रतिनिधि व अच्छी सरकार के बारे में कहीं कुछ कहा गया है। मतदान के बारे में हर मतदाता को सोच-समझकर निर्णय करना चाहिए।
शुरुआत से ही लोकतंत्र को मजबूती के प्रयास

चुनाव सुधार के बारे में देखा जाए तो हर देश में अपनी परिस्थितियों के अनुसार अलग-अलग तरीके से प्रयास हुए हैं। अब जैसे यूएस के चुनाव हैं तो 6 जनवरी 21 की घटना के बारे में सबने देखा है। भारत में चुनाव आयोग संविधान लागू होने से पहले ही अस्तित्व में आ गया था, इसी तरह भारत में पहले चुनाव से महिलाओं का वोट में बराबरी का अधिकार दे दिया था, हमने ***** सहित अन्य किसी भी प्रकार से मतदाताओं में भेद नहीं किया। इससे बरावरी के भाव को स्पष्ट रूप से समझा जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट के दखल से भी चुनाव सुधार के प्रयास हुए हैं। इससे लोकतंत्र और मजबूत हुआ है। आम जनता को प्रत्याशियों की सम्पत्ति, शैक्षणिक योग्यताा व उनके आपराधिक रिकॉर्ड के बारे में जानने का अधिकार मिला है, इससे भी लोकतंत को मजबूती मिली है।
हर मतदाता अपने अधिकार का प्रयोग करे

इन सब परिस्थितियों में मेरी हर मतदाता से अपील है कि मतदान करने 25 नवम्बर को अवश्य जाए, हर मतदाता अपने अधिकार का प्रयोग करे, क्योंकि मजबूत लोकतंत के लिए मतदान आवश्यक है।

ट्रेंडिंग वीडियो