जिरकोनिया क्राउन से मिल सकती है कुदरती मुस्कान

- 17वीं पीडोवेंशन 20-20 का शुभारंभ

- बच्चों में होने वाली दांतों की समस्याओं के बारे में हुआ मंथन

जयपुर. राजकीय दंत महाविद्यालय एवं चिकित्सालय की ओर से शुक्रवार से तीन दिवसीय 17वीं पीडोवेंशन 20-20 का शुभारंभ हुआ। इसमें देशभर से करीब 1000 से अधिक डेंटल सर्जन शामिल हो रहे हैं, जो बच्चों में होने वाली दांतों की समस्याओं के बारे में चर्चा करेंगे। पीडोवेंशन के पहले दिन एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें देश-विदेश से आए विशेषज्ञों ने प्रतिभागियों को बच्चों में होने वाले दंत रोगों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यशाला में सीनियर एनेस्थेटिस्ट डॉ. माया टंडन ने बेसिक लाइफ सपोर्ट के बारे में बताया।
गुजरात से आए डॉ. रोहन भट्ट ने बताया कि बच्चों में दांतों की बीमारियां बढ़ रही है। इस वजह से उनकी स्माइल खराब हो रही है। ऐसे में बच्चों की नेचुरल स्माइल वापस लाने के लिए जिरकोनिया क्राउन का इस्तेमाल होने लगा है। महाराष्ट्र से आए डॉ. प्रसाद मुसल ने बच्चों के दांतों में होने वाली समस्याओं से बचाने के लिए स्पेस मेंटेनर के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि बच्चों के दांतों में कीड़े लगने से दांत को निकालना पड़ता है। ऐसे में जब तक दूसरा दांत नहीं लग जाता तब तक उस जगह को संभाल कर रखना पड़ता है। कार्यशाला में दिव्यांग बच्चों में होने वाले दंत रोगों के इलाज के बारे में डॉ. प्रिया वर्मा और डॉ. एसके मल्लिन ने जानकारी दी। इस अवसर डॉ. शर्मिष्ठा विजय, डॉ. रिंकू माथुर, डॉ. अनुपमा आदि फैकल्टी भी मौजूद रहीं।

Avinash Bakolia Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned