scriptDepartment of Anti Corruption Buero , Rajasthan | क्या आपने भी दी है रिश्वत... Rajasthan में भ्रष्टाचार को लेकर बड़ा खुलासा... IAS - IPS भी धरे... | Patrika News

क्या आपने भी दी है रिश्वत... Rajasthan में भ्रष्टाचार को लेकर बड़ा खुलासा... IAS - IPS भी धरे...

पिछले साल के अंत में जो टोल फ्री और मोबाइल नंबर दिए गए थे वे जमकर काम आए.... लोगों ने खूब फोन घुमाए और भ्रष्टाचारियों को पकडवाया..।

जयपुर

Published: January 05, 2022 11:51:32 am

जयपुर
एंटी करेप्शन ब्यूरो.... नाम ही काफी है। इस साल ये नाम और ज्यादा बड़ा भी हो गया... कारण इस साल एसीबी ने जितने एक्शन लिए, उतने आज तक किसी साल में नहीं लिए गए एसीबी की स्थापना के बाद से....। पुलिस वाला हो, आरएएस हो, आरपीएस हो, आईएसस हो, आईपीएस हो.... किसी को नहीं छोड़ा एसीबी ने। पहली बार एसीबी चैकियों को भी बड़ा काम दिया गया और वह था गांवों को गोद लेने का...। पिछले साल के अंत में जो टोल फ्री और मोबाइल नंबर दिए गए थे वे जमकर काम आए.... लोगों ने खूब फोन घुमाए और भ्रष्टाचारियों को पकडवाया..।
acb trap
तीन हजार से ज्यादा फोन काॅल.... कई शिकायतें पेंडिंग
एसीबी अधिकारियों ने जनता तक सीधी पहुंच बनाने के लिए पिछले साल के अंत में दो टोल फ्री नंबर जारी किए थे। एक मोबाइल नंबर 9413502843 और दूसरा टोल फ्री नंबर 1064 है। इन नंबरों पर पूरे साल में करीब तीन हजार से ज्यादा काॅल आए राजस्थान के लगभग हर जिले से। एसीबी ने शिकायतों की प्राथमिकताओं के आधार पर ट्रेप करना शुरु किया और इस साल इतने ट्रेप किए जो पिछले किसी साल में नहीं हुए। अफसरों ने बताया कि कई शिकायतें जिनका आधार नहीं था उनको फिर से जांचा जा रहा है। कई शिकायतों पर काम किया जा रहा है।
हर रोज औसतन एक ट्रेप का मिथक टूटा, इस साल चार सौ से ज्यादा शिकार
एसीबी अफसरों ने बताया कि 2021 कार्रवाई की दृष्टिकोण से राजस्थान एसीबी के लिए एक सफल वर्ष रहा है। एसीबी ने अपनी विजिलेंस विंग को काम पर लगाया और कार्रवाई करते हुए रिश्वत देने वाले और लेने वाले दोनों तरह के लोगों को भ्रष्टाचार में लिप्त पाए जाने पर गिरफ्तार किया। यदि बात राजस्थान एसीबी द्वारा की गई कार्रवाई की करें तो वर्ष 2021 में एसीबी ने प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत 470 प्रकरण दर्ज किए हैं। इसके साथ ही भ्रष्टाचार में लिप्त 410 अधिकारी व कर्मचारियों को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही एसीबी ने आय से अधिक संपत्ति के 24 प्रकरण और पद के दुरुपयोग के 32 प्रकरण दर्ज किए हैं। प्रकरणों के निस्तारण में भी वर्ष 2021 एसीबी के लिए अच्छा साबित हुआ। तकरीबन 600 प्रकरणों का निस्तारण करते हुए न्यायालय में चालान व एफआर पेश की गई है। वर्तमान में जो प्रकरण पेंडिंग चल रहे हैं उन्हें भी जनवरी 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। पहली बार सजग ग्राम योजना के तहत एसीबी ने 51 पिछड़े गांव की कायाकल्प करने का संकल्प भी लिया है। जिसके तहत पूरे प्रदेश में एसीबी की 51 चौकियों ने 51 गांवों को गोद लिया है।
एक करोड़ का रिवाल्विंग फंड मिला पहली बार
एसीबी अफसरों ने बताया बताया कि सरकार की तरफ से जो बजट एसीबी को दिया गया उससे एसीबी ने रिवाल्विंग फंड की शुरुआत की है। इसके साथ ही प्रदेश में एसीबी की तमाम चौकी को सरकार से मिले बजट से अपडेट किया गया है। यह फंड करीब एक करोड का है।
साल के सबसे बड़े पांच ट्रेप
1. आईएएस इंद्रसिंह राव को बारां जिला कलेक्टर रहते हुए लाखों लेते ट्रेप
2. आईपीएस मनीष अग्रवाल दौसा एसपी रहते हुए ट्रेप, 38 लाख का आरोप
3 . आरएएस वीरेन्द्र शर्मा चार लाख रुपए लेेते हुए किए गए ट्रेप
4. आरपीएस सपात खान को तीन लाख कैश लेते हुए किया ट्रेप
5 . आरपीएस कैलाश बोहरा महिला को रेप करने से पहले दबोचा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की मौजूदगी में शौर्य का प्रदर्शनरेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की किलेबंदी, जमीन से आसमान तक करीब 50 हजार सुरक्षाबल मुस्तैदरायबरेली में जहरीली शराब पीने से 6 की मौत, कई गंभीर, जांच के आदेशBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयरेलवे ट्रेक पर प्रदर्शन किया तो कभी नहीं मिलेगी नौकरी, पढ़े पूरी खबरUP Election 2022: “यहां वोट मांगने मत आइये” सियासी दलों के नेताओं को चेतावनी, जानिए कहाँ का है मामलाLucknow Super Giants : यूपी की पहली आईपीएल टीम का नाम है लखनऊ सुपर जाइंट्स
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.