उपमुख्यमंत्री पायलट ने टटोली जनता की नब्ज, खेत में किया रात्रि विश्राम

Firoz Khan Shaifi | Publish: Jun, 10 2019 01:17:25 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जालौर-सिरोही और पाली जिले के दो दिवसीय दौरे पर हैं पायलट

जयपुर। लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद अब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट जिलों का दौरा कर जनता की नब्ज टटोलने में लगे हैं कि क्या कारण रहे कि राजस्थान में सरकार होने के बाद भी जनता ने उन्हें सिरे से नकार दिया।आम जनता से सीधे जुड़ाव और हार के कारणों की समीक्षा के लिए अब पायलट ने नया तरीका इजाद करते हुए सीधे जनता के बीच जाकर उनसे संवाद कर रहे हैं।

जनता की समस्याओं को सुनने के साथ ही हाथों-हाथ उनकी समस्याओं की निस्तारण भी कर रहे हैं, यहीं नहीं पीसीसी चीफ सचिन पायलट सरकारी आवासों और होटलों में ठहरने की बजाए सीधे गावों और ढाणियों में जाकर विश्राम कर रहे हैं।


दरअसल पीसीसी चीफ और प्रदेश के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने जिलों में जाकर लोगों की जनसुनवाई कार्यक्रम शुरू किया है। 6 जून को टोंक में जनसुनवाई करने के बाद पायलट अब रविवार से जालौर-सिरोही और पाली जिले के दो दिवसीय दौरे पर हैं। पायलट के दौरे का आज दूसरा दिन है। पायलट आज दिनभर तीनों जिलों में विभागीय कार्यों की समीक्षा करने के साथ ही लोगों की जनससम्याएं सुन उनका निस्तारण भी करेंगे। पायलट ने आज सुबह 9 बजे सबसे पहले जालोर के भीनमाल कस्बे में ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग के अधिकारियों के साथ मनरेगा के कार्यों की समीक्षा की।

इसके बाद पायलट 11.30 बजे जालोर कलेक्ट्रेट में अधिकारियों के समक्ष जनता से जुड़ी समस्याओं पर चर्चा करेंगे। इसके बाद दोपहर 3 बजे पाली कलेक्ट्रेट में भी विभिन्न विभागों के कामकाज की समीक्षा करेंगे। पायलट के दो दिवसीय दौरे के दौरान ग्रामीण विकास पंचायती राज, पीडब्ल्यूडी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, जल संसाधन, बिजली, मेडिकल एंड हेल्थ, शिक्षा, वाटर रिसोर्सेज और महिला एवं बाल विकास विभाग के तमाम जिलों के अधिकारी भी मौजूद हैं।


खेत में किया रात्रि विश्राम
इससे पहले रविवार को दिनभर कई विभागों की समीक्षा और ग्रामीणों की समस्याएं सुनने के बाद सचिन पायलट ने जालोर जिले के कासेला गांव के खेत में रात्रि विश्राम किया। स्थानीय कांग्रेस नेताओं के मुताबिक पायलट के खेत में रात्रि विश्राम करने के पीछ ये वजह है कि पायलट किसानों के बीच में रहकर उनकी समस्याओं को जान सके और ये पता लगा सके कि किसान 50 डिग्री तापमान पर कैसे अपनी जिंदगी जीता है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned