जयपुर वासियों में लगातार सुधर रहा है डाइबिटीज नियंत्रण का स्‍तर: इंडिया डाइबिटीज केयर इंडेक्‍स

जयपुर . जयपुर में Diabetes पीड़ितों में गत वर्ष के मुकाबले सुधार को दर्शाता है।

By: Anil Chauchan

Published: 20 Nov 2020, 04:37 PM IST

जयपुर . मरीजों में लॉन्‍ग टर्म ब्‍लड शुगर ( Blood Sugar ) कंट्रोल का सर्वश्रेष्‍ठ मापदंड एचबीए1सी लेवल सितंबर 2020 में 8.01 प्रतिशत रहा, जो जयपुर में डाइबिटीज ( Diabetes ) पीड़ितों में गत वर्ष के मुकाबले सुधार को दर्शाता है। कोविड-19 महामारी के चलते लॉकडाउन के बावजूद डाइबिजटीज पीडि़तों ने एचबीए1सी लेवल को बेहतरीन तरीके से नियंत्रित किया है। यह भी सही है कि डाइबिटीज से पीड़ित लोगों में कोविड-19 के कारण जान का जोखिम व गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का खतरा 50 फीसदी अधिक है।


यह जानकारी राउंड टेबल डिस्केशन में विभिन्न विशेषज्ञों ने दी। इस बैठक में कोविड-19 महामारी के दौरान डाइबिटीज को नियंत्रित रखने के महत्‍व की चर्चा की गई। जयपुर के एंडोक्राइनोलॉजिस्‍ट डॉ. शैलेष लोढा ने बताया कि लगातार दो वर्षों से जयपुर में डाइबिटीज से पीड़ित लोगों में औसत एचबीए1सी के लेवल में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। कोविड-19 महामारी के चलते लगे प्रतिबंधों के कारण लोगों को घरों में लंबे समय तक रुकना होता है, उसके बावजूद जयपुर वासियों ने अपने एचबीए1सी के स्‍तर पर को बेहतरीन तरीके से नियंत्रित किया है।


डाइबिटीज का प्रभावी प्रबंधन अच्‍छी डाइट, नियमित शारीरिक व्‍यायाम और डाइबिटीज के लेवल की लगातार निगरानी के जरिए ही किया जा सकता है। डाइबिटीज से पीड़ित लोगों को ब्‍लड ग्‍लूकोज पर नजर रखने के लिए अपने घर पर दवाओं का पर्याप्‍त स्‍टॉक रखना चाहिए। इसके अलावा यदि सांस लेने में कठिनाई या सासें छोटी होना, बुखार, सूखी खांसी, थकान, शरीर में दर्द, गला खराब होना, सिर दर्द, स्‍वाद नहीं आना या सूंझने में परेशानी होना आदि अनुभव करें तो तुरंत डॉक्‍टर्स की मदद लेनी चाहिए।


उदयपुर के कंसल्‍टेंट एंडोक्राइनोलॉजिस्‍ट डॉ. जय चोरडिया ने कहा कि वर्तमान में देश में 7.7 करोड़ लोग डाइबिटीज से पीड़ित हैं। इम्‍पैक्‍ट इंडिया प्रोग्राम के तहत मेडिकल सेक्‍टर के प्रैक्टिसनर्स (डॉक्‍टर्स और पैरामेडिक्‍स) से साझेदारी के लिए डिजिटल प्‍लेटफॉम्र्‍स की भी मदद ली जा रही है, ताकि देश में डाइबिटीज को नियंत्रित करने में उपयुक्‍त अप्रोच को अपनाया जा सके। आईडीसीआई एक बहुत ही बेहतरीन टूल है जो न केवल डाइबिटीज केयर के स्‍तर को ट्रैक करती है बल्कि जागरूकता बढ़ाने, उत्‍साह बढ़़ाने और हेल्‍थकेयर प्रोफेशनल्‍स एवं समाज को संवेदनशील बनाने में भी मदद करती है।

Show More
Anil Chauchan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned