Adani Power 5200 करोड़ हारने के बाद Discom ने एपिलिएट का खटखटाया दरवाजा

भारी आर्थिक बोझ से बचने का आखिरी जतन

 

By: Bhavnesh Gupta

Updated: 03 Jan 2020, 02:02 PM IST

जयपुर। अडानी पॉवर को कोयला भुगतान मामले में झटका लगने के बाद सरकार ने फिर एपिलिएट ट्रिब्यूनल फोर इलेक्ट्रिसिटी का दरवाजा खटखटाया है। ऊर्जा विकास निगम ने एपिलिएट में अडानी पॉवर कंपनी के दावे को खारिज करने की याचिका दायर की है। इसके लिए अनुबंध शर्त व नियम-कायदों का हवाला दिया गया है। सुनवाई के दौरान भी निगम की ओर से प्रभावी पैरवी की गई। हालांकि, सरकार से लेकर ऊर्जा विकास निगम, डिस्कॉम्स और ऊर्जा विभाग के अधिकारी घबराए हुए हैं। क्योंकि, एपिलिएट ने कुछ माह पहले दिए गए अपने आदेश में डिस्कॉम्स की याचिका खारिज कर अडानी पॉवर को पूरी राशि करीब 5200 करोड़ रुपए चुकाने के आदेश दिए थे। इसके अलावा डिस्कॉम्स को कैरिंग चार्ज भी अलग से देना होगा, जो भी करोड़ों में होगा। इस आदेश के बाद उर्जा विभाग से लेकर राज्य सरकार तक में हलचल मची हुई है। इससे राज्य के 1.52 करोड़ उपभोक्ताओं के बिजली बिल में बढ़ोत्तरी की आशंका बढ़ गई है।

2700 करोड़ रुपए का भार पहले से बिल में...
इसी मामले में अडानी पॉवर को अंतरिम राहत देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कुछ माह पहले डिस्कॉम्स को 50 फीसदी राशि देने के लिए आदेश दिए थे। यह राशि करीब 2700 करोड़ रुपए थी। इसका सीधा भार 1.20 करोड़ उपभोक्ताओं पर डाल दिया। जयपुर, अजमेर व जोधपुर तीनों डिस्कॉम्स के उपभोक्ताओं से 36 माह तक 5 पैसे प्रति यूनिट गणना के आधार पर वसूली की जा रही है।

अब यह कर रहे...
-आदेश का अध्ययन करने की औपचारिकता शुरू कर दी है। इसमें डिस्कॉम्स के अलावा विधि विभाग के अफसर, वकील जुटे हुए हैं।
-सुप्रीम कोर्ट में अपील को लेकर विधिक राय ली जा रही है।
-अडानी पॉवर के बकाया भुगतान के दावे से जुड़े दस्तावेजों की जांच कर वास्तविक भुगतान राशि का आकलन कर रहे हैं।

यह भार पहले से ही..
उपभोक्ताओं पर फ्यूज सरचार्ज के रूप में अतिरिक्त राशि का भार पहले ही डाला जा चुका है। डिस्कॉम यह राशि अभी वसूल रहा है। इससे डिस्कॉम को 250 करोड़ रुपए से ज्यादा राशि मिलेगी। इसके अलावा बिजली बिल बढ़ोत्तरी की पिटिशन विद्युत विनियामक आयोग के पास है, जिस पर लोगों की आपत्ति पर सुनवाई हो चुकी है। बिल में अधिकतम 28 प्रतिशत तक बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव है।

Adani Power
Bhavnesh Gupta Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned