विधानसभा में उद्योग,श्रम रोजगार की अनुदान मांगों पर चर्चा

राजस्थान अधिवक्ता कल्याण निधि संशोधन विधेयक 2020 होगा पारित

By: firoz shaifi

Published: 07 Mar 2020, 08:26 AM IST

जयपुर। 15 वीं विधानसभा के चल रहे बजट सत्र में आज सदन की कार्यवाही ध्यानाकर्षण प्रस्तावों से होगी। सदन में आज प्रश्नकाल और शून्यकाल नहीं होगा। प्रश्नकाल और शून्यकाल 12 मार्च को होगा। सदन में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव, याचिकाओं का उपस्थापन और विधायी कार्य ही होंगे।

विधायी कार्यों के तहत आज सदन में उद्योग और श्रम रोजगार की अनुदान मांगों पर चर्चा होगी। पक्ष-विपक्ष के सदस्य इस पर अपने सुझाव देंगे। इससे पहले सदन में राजस्थान अधिवक्ता कल्याण निधि संशोधन विधेयक 2020 को विचारार्थ लिया जाएगा, पक्ष-विपक्ष के सुझाव के बाद इसे सदन में पारित किया जाएगा।


ध्यानाकर्षण प्रस्ताव
सदन में आज सदस्य ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जरिए अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों की समस्याओं को उठाएंगे। विधायक संयम लोढ़ा आबूरोड नगरपालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार और अनियमितताओं के मामले को लेकर यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल का ध्यान आकर्षित करेंगे।


इसके अलावा विधायक अमीन खां शिव की तहसील रामसर और गडरा में व्याप्त पेयजल समस्या के निराकरण को लेकर जलदाय मंत्री का ध्यान आकर्षित करेंगे। विधायक बाबूलाल झाडोल स्थित राजस्थान-गुजरात की सीमा पर बसे गांवों के बीच सीमा विवाद होने के मामले को लेकर राजस्व मंत्री का ध्यान आकर्षित करेंगे।

विधायक रोहित बोहरा सरकारी विद्यालयों में मिड डे मील में सप्लाई किए जा रहे दूध की गुणवत्ता उचित मानकों के अनुसार नहीं होनेके मामले में शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का ध्यान आकर्षित करेंगे। वहीं जनलेखा समिति के सभापति गुलाब चंद कटारिया 10 प्रतिवेदनों का उपस्थापन करेंगे।


याचिकाओं का उपस्थापन
विधायक संजय शर्मा अलवर शहर में बहरोड रोड पर महाराजा भृतहरि और हसन खां मेवाती के पैनोकमाओं को आमजन और पर्यटकों के लिए खुलवाने को लेकर याचिका का उपस्थापन करेंगे। इसके अलावा विधायक बलवीर सिंह लूथरा रायसिंह नगर में प्रवाहित घग्घर नदी पर समर्सिबल पुल बनाने के संबंध में एक याचिका का उपस्थापन करेंगे।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned