अस्पताल में ब्रांडेड दवा लिखने वाले डॉक्टरों पर होगी कार्रवाई

अस्पताल में ब्रांडेड दवा लिखने वाले डॉक्टरों पर होगी कार्रवाई

neha soni | Publish: Feb, 27 2019 03:29:15 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा एवं जांच योजना की समीक्षा

जयपुर।
चिकित्सा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में मुख्यमंत्री निशुल्क दवा एवं जांच योजना की समीक्षा की। उन्होंने सरकारी अस्पतालों में मरीजों को जैनरिक दवाएं लिखने के प्रावधान की पालना के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बाजार की दवाएं लिखने वाले डॉक्टरों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने लेबर रूम निरीक्षण में लापरवाही पर ओसियां के बीसीएमओ बीके प्रजापति को निलंबित करने के निर्देश दिए। इस कार्य में तत्परता नहीं बरतने वालों को कारण बताओ नोटिस देने के भी निर्देश दिए। बैठक में मिशन निदेशक समित शर्मा सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

2014 से लागू माने जाएंगे मूल्य संबंधी प्रावधान : आबकारी अधिनियम में एक्साइज ड्यूटी के तहत मूल्य संबंधी प्रावधान 1 अप्रेल 2014 को लागू माने जाएंगे। इस संशोधन के लिए जारी अधिसूचना में मूल्य में एक्सपोर्ट फीस, केन्द्रीय बिक्री कर सहित अन्य फीस को शामिल माना गया है।

 

कंपाउडर चलाता मिला क्लिनिक, बिना लाइसेंस की दवाइयां सीज

जयपुर। औषधि नियंत्रण संगठन ने गोनेर में जगदीश महाराज क्लिनिक पर कार्रवाई कर यहां कंपाउंडर की ओर से डॉक्टर की तरह चलाए जा रहे क्लिनिक पर कार्रवाई की है। यहां बिना लाइसेंस के ही पांच कर्टन में रखी 40 हजार कीमत की दवाइयां पाई गई। औषधि नियंत्रण अधिकारी राजाराम शर्मा ने बताया कि ये दवाइयां एंटिबायोटिक व ड्रिप्स थीं। क्लिनिक का संचालन अशोक कुमार आचार्य कर रहा था। उइस संबंध में शिवदासपुरा थाने में मामला भी दर्ज करा दिया गया है। सीज की गई दवाइयां बिना लाइसेंस नहीं रखी जा सकती। साथ ही डॉक्टर के रूप में कंपाउंडर मरीजों का उपचार नहीं कर सकता।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned