राजस्थान में कोरोना विस्फोट—कोरोना संक्रमित मरीज घर में है या बाहर—कलक्टर करेंगे जांच

कोरोना संक्रमित मरीज घर में है या नहीं,कलक्टर करेंगे भौतिक सत्यापन
प्रदेश में एकाएक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद सरकार ने उठाया बड़ा कदम
13 जुलाई तक देनी है रिपोर्ट

By: PUNEET SHARMA

Published: 12 Jul 2020, 08:53 AM IST


जयपुर।
प्रदेश में प्रतिदिन 500 से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने पर सरकार में चिंता बढ़ गई है। माना जा रहा है कि संक्रमित मरीजों के द्वारा होम और संस्थागत क्वारेंटाइन की सही तरीके से पालना नहीं होने से कोरोना संक्रमण के मामलों की बाढ़ आई है।

लिहाजा अब प्रदेश सभी जिलों में होम आईसोलेट और संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटरों का सौ फीसदी सत्यापन करने के निर्देश कलक्टरों को दिए गए हैं। जिला कलक्टर पांच ऐसे घरों का भौतिक सत्यापन करेंगे जहां संक्रमित मरीज रह रहा है। जिससे यह पता चल सके कि संक्रमित व्यक्ति लाइन की पालना के हिसाब से घर में ही है या फिर बाहर घूम रहा है। इसके अलावा कलक्टर,अतिरिक्त कलक्टर, जिला परिषद मुख्य कार्यकारी अधिकारी और उपखंड अधिकारियों को भी निर्देश दिए हैं कि वे स्वयं जिले में एक संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर का भौतिक सत्यापन करेंगे।

वहीं सौ फीसदी सत्यापन के लिए एक प्रशासनिक अधिकारी और एक चिकित्सक को शामिल कर एक टीम गठित करने के निर्देश भी दिए हैं। कलक्टरों को भौतिक सत्यापन की रिपोर्ट 13 जुलाई तक स्टेट क्वारेंटाइन प्रभारी और सार्वजनिक निर्माण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गूप्ता को भेजनी है।

PUNEET SHARMA Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned