रोहित के खिलाफ सबूत जुटाने में पुलिस को आ रहा पसीना, गंदे नाले में उतारे तीन तैराक, नहीं मिला मोबाइल

राजधानी के चर्चित डबल मर्डर केस ( Double Murder Case Jaipur ) में पुलिस को ( JAIPUR POLICE ) रोहित तिवारी के खिलाफ सबूत जुटाने में पसीना आ रहा है। ( Jaipur Crime News )

abdul bari

January, 1406:08 PM

जयपुर।
राजधानी के चर्चित डबल मर्डर केस ( Double Murder Case Jaipur ) में पुलिस को ( JAIPUR POLICE ) रोहित तिवारी के खिलाफ सबूत जुटाने में पसीना आ रहा है। हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले सौरभ चौधरी से पूछताछ के बाद सांगानेर के नाले में तीन तैराक को उतारकर मृतका श्वेता के मोबाइल की तलाश की गई, लेकिन शाम तक मोबाइल नहीं मिला। मौके पर रोहित और सौरभ को लेकर पुलिस पहुंची थी।

रिमांड बढ़ाया ( Jaipur Crime News )

रोहित और सौरभ की रिमांड अवधि पूरी होने पर कोर्ट में पेश किया, जहां पर 14 जनवरी तक पुलिस रिमांड और हासिल कर लिया। वहीं सौरभ के जीजा हरिप्रकाश से दो दिन की पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे छोड़ दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस को उससे पूछताछ में कुछ खास नहीं मिला।

ठोस सुरक्षा का इंतजार

जानकारी के अनुसार पुलिस मामले में रोहित तिवारी को साजिशकर्ता बता चुकी है। पूरे मामले में हत्या करने वाले सौरभ के खिलाफ तो पुलिस को कई सबूत मिले हैं, लेकिन रोहित तिवारी के खिलाफ पुलिस अभी तक ठोस सुराग जुटाने में कामयाब नहीं हो पाई है। पुलिस रोहित और सौरभ को पूछताछ के लिए एक बार फिर से तीन दिन के पुलिस रिमांड पर लाई है।

बेहिचक जवाब

रोहित ने पत्नी और बेटे को मारने ( MOTHER SON MURDER ) के लिए सौरभ को सुपारी दी है, इसको लेकर कोई सबूत फिलहाल पुलिस को नहीं मिला है। वहीं पूछताछ में भी रोहित हर सवाल का तुरंत और बेहिचक जवाब दे रहा है। कई अफसर रोजाना आरोपियों से विभिन्न सवालों को लेकर पूछताछ कर रहे हैं।

नाले में तलाशा मोबाइल

पुलिस ने सौरभ के ठिकानों से श्वेता के मोबाइल की सिम तो जब्त कर ली, लेकिन उसके मोबाइल नहीं मिला था। पूछताछ में सौरभ ने सांगानेर से शिकारपुरा की तरफ जाने वाले गंदे नाले में फेंकना बताया था। इस पर पुलिस की टीम दोनों आरोपियों को लेकर तीन प्राइवेट लोगों को नाले में उतारा और मोबाइल की तलाश की, लेकिन मोबाइल नहीं मिला। अब पुलिस की टीम के जरिए नाले में मोबाइल तलाशेगी।


पूछताछ में कुछ नहीं मिला

पुलिस ने रोहित तिवारी से संबंधों के चलते उदयपुर में आईओसीएल के अधिकारी हरिप्रकाश को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की, लेकिन दो दिनों की पूछताछ के बाद रोहित के खिलाफ या हत्या को लेकर हरिप्रकाश से कोई खास जानकारी नहीं मिल पाई। इसके बाद पुलिस ने हरिप्रकाश का छोड़ दिया।

यह खबरें भी पढ़ें...

राजधानी में पतंगबाजी की कहासुनी झगड़े में बदली, दो युवकों पर हुआ ब्लेड से हमला

दर्दनाक सड़क हादसा: ट्रोले से भिड़ी बाइक, हादसे में एक युवक की मौत, दूसरा घायल


बाईक पर लाखों रूपए से भरा बेग छोड़कर चाय पीने गया युवक, पीछे से बेग हुआ पार, पुलिस ने कराई नाकेबंदी

Show More
abdul bari
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned