राजस्थान: Dr. Kafeel Khan ने भी किया Sachin Pilot के जन्मदिन पर रक्तदान, जानें आखिर क्यों हो रही चर्चा?

- राजस्थान में पनाह लिए हुए हैं डॉ कफील खान, कांग्रेस पार्टी का मिल रहा है संरक्षण! पिछले दिनों ही मथुरा जेल से छूटकर राजस्थान पहुंचे हैं डॉ खान, राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत हुई थी गिरफ्तारी, सीएए के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी के लगे थे संगीन आरोप, रिहाई के बाद प्रियंका गांधी ने की बात, कांग्रेस ने पहुंचाई मदद

 

By: nakul

Published: 07 Sep 2020, 11:12 AM IST

जयपुर।

राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत गिरफ्तारी झेलने के बाद चर्चा में आये डॉक्टर कफील खान इन दिनों जयपुर में हैं। रविवार को डॉ खान ने यहाँ एक एक ब्लड डोनेशन कैम्प में रक्तदान किया। ख़ास बात ये थी कि ये कैम्प पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के जन्मदिन के उपलक्ष्य में आयोजित हुआ था। गौरतलब है कि पिछले दिनों मथुरा जेल से छूटने के बाद से ही डॉ खान को कांग्रेस पार्टी का संरक्षण मिला हुआ है।

‘यातना सहन करने के बाद भी किया रक्तदान’
डॉ खान ने आमेर के बिलौची तहसील स्थित सनराइज़ रिजोर्ट में रविवार को पायलट के जन्मदिवस के अवसर पर आयोजित शिविर में एक यूनिट रक्तदान किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि लगभग साढ़े सात महीने जेल में रहकर वहां की पतली डाल और चपाती खाने और यातना सहने के बाद रक्तदान किया हैI लेकिन तब भी रक्तदान करके स्वस्थ महसूस हो रहा है।

उन्होंने रक्तदान से जुडी कई तरह की भ्रांतियों बताते हुए इसके महत्व की जानकारी दीI डॉ खान ने कहा कि एक इंसान का रक्तदान चार इंसानों की ज़िन्दगी बचा सकता है।

भड़काऊ भाषण देने के बाद हुए थे गिरफ्तार
डॉ कफील खान पिछले साल अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के बाद चर्चा में आये थेI यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के आरोप में गिरफ्तार किया था। वे जनवरी से जेल में बंद थे। मगर पिछले दिनों इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने उनकी रासुका के तहत गिरफ्तारी को अवैध बताते हुए उनकी तत्काल रिहाई के आदेश दिए थे। अदालत के आदेश के बाद खान को मधुरा की जेल से रिहा किया गया।

ऑक्सीजन कांड के बाद भी चर्चा में रहे
डॉ. कफील खान को पहली बार अगस्त 2017 में बीआरडी मेडिकल कॉलेज, गोरखपुर में ऑक्सीजन हादसे के बाद गिरफ्तार किया गया था, जिसमें तीन दिन के अंदर 70 बच्चों की मौत हुई थी। हालांकि विभागीय जांच में उन्हें क्लीन चिट दे दी गई, लेकिन उन्हें फिर से बहाल नहीं किया गया।

मिल रहा कांग्रेस पार्टी का संरक्षण !
जेल से छूटने के बाद से ही डॉ खान को कांग्रेस पार्टी का संरक्षण मिलता दिखाई दिया है। खान की जेल से रिहाई के दौरान उत्तर प्रदेश के पूर्व कांग्रेस विधायक प्रदीप माथुर उनके साथ देखे गए। माथुर ने बताया था कि वरिष्ठ पार्टी नेताओं के निर्देश पर वे काफिल की रिहाई के लिए औपचारिकताएं पूरी कर रहे हैं। यूपी कांग्रेस नेताओं ने ही डॉ खान को यूपी बॉर्डर पार कर राजस्थान पहुँचाने में मदद की।

प्रियंका गांधी ने भी की थी बातचीत
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी डॉ कफील खान की रिहाई के बाद उनसे बातचीत की थी। जेल से बाहर निकने पर डॉ कफील ने ही कहा था कि मुश्किल समय में प्रियंका गांधी ने उनकी बहुत मदद की। इस बात को डॉ खान खुद भी स्वीकार करते हैं कि प्रियंका गांधी के कहने पर वे जयपुर आए हैं। वह कहते हैं कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है, इसलिए हम यहां सुरक्षित रह सकते हैं।

Congress
Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned