राजे ने लिखा...जयपुर के लाखों लोगों की उम्मीद, राजनीतिक चश्मे से न देखें

 

द्रव्यवती नदी की बदहाली पर भाजपा प्रदेश सरकार पर हमलावर

By: Ashwani Kumar

Updated: 23 Sep 2021, 08:31 PM IST

जयपुर। द्रव्यवती रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट की बदहाली पर भाजपा प्रदेश सरकार पर हमलावार हो गई है। भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सुबह तीन ट्वीट किए। उनके ट्वीट को सांसद रामचरण बोहरा और राज्यवद्र्धन सिंह राठौड़ ने रिट्वीट भी किया।
राजे ने लिखा कि नदी भाजपा सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट था। यह राजधानी के लाखों लोगों की उम्मीद भी है। इसे राजनीतिक चश्मे से देखने की बजाय जनहित के नजरिए से देखें। ताकि यह प्रोजेक्ट पर्यटन स्थल के रूप में देश और दुनिया में एक उदाहरण बन सके तथा जयपुर की सुंदरता में चार चांद लगा सके।
राजे ने लिखा कि हमने एक संकल्प लिया और 1400 करोड़ रुपए की लागत से एक गंदे नाले को सुंदर एवं स्वच्छ नदी के रूप में परिवर्तित करने की दिशा में हम आगे बढ़े। इसका कार्य पूरा होते ही 47 किमी लम्बी नदी एक नए, खूबसूरत और स्वच्छ जयपुर की छवि में निखरकर सामने आई थी। लेकिन राज्य सरकार की लापरवाही की वजह से प्रोजेक्ट अब अव्यवस्था का शिकार हो गया।

पत्रिका की खबर को किया साझा
राजे ने अपने ट्वीट में पत्रिका की उस खबर को भी साझा किया, जो 22 सितम्बर को प्रकाशित हुई थी। शीर्षक जालियां चोरी, वॉकिंग ट्रैक पर लगे मिट्टी के ढेर में बताया था कि कैसे नदी की बदहाली हो रही है। जबकि जेडीए 1400 करोड़ रुपए अब तक खर्च कर चुका है।

ट्विटर

जयपुर को स्वच्छ और खूबसूरत बनाने के संकल्प के साथ द्रव्यवती रिवर फ्रंट पूर्ववर्ती —भाजपा सरकार की महत्वाकांक्षी योजना थी, लेकिन प्रदेश की कांग्रेस सरकार की संवेदनहीनता के कारण यह योजना अव्यवस्था का शिकार हो गई। सरकार शीघ्र ही इस योजना गंभीरता से कार्य करें।—रामचरण बोहरा, सांसद, जयपुर शहर

—द्रव्यवती नदी के कायाकल्प के लिए राजस्थान की कांग्रेस सरकार गंभीर नहीं है। इसीलिए द्रव्यवती नदी की पुन: यह दशा हो गई है।
—राज्यवद्र्धन सिंह राठौड़, सांसद, जयपुर ग्रामीण

दिसम्बर तक काम करना होगा पूरा
इधर, जेडीए ने टाटा को दिसम्बर तक काम पूरा करने का लक्ष्य दिया है। हालांकि, भुगतान को लेकर भी विवाद है। जेडीए के अधिकारियों की मानें तो काम पूरा होने के बाद जो भी बकाया है, उसका भुगतान किया जाएगा। कम्पनी जेडीए पर करीब 125 करोड़ रुपए की मांग कर रहा है। हालांकि, जेडीए के अधिकारी इससे सहमत नहीं है।

Ashwani Kumar Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned