पोकरण में रचा एक और इतिहास

Prabhat K Sharma

Updated: 24 May 2019, 10:02:56 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

लोकसभा चुनाव परिणाम के एक दिन बाद थार के रेगिस्तान में वायुसेना ने इस विशेष गाइडेड बम का सफल परीक्षण किया। सूत्रों के अनुसार डीआरडीओ की तरफ से विकसित 500 किलोग्राम वजनी इस गाइडेड बम ने 30 किलोमीटर दूर बनाए गए लक्ष्य पर पूरी तरह से सटीक प्रहार किया।
गौरतलब है कि गत 22 मई को वायुसेना ने डीआरडीओ के साथ मिलकर सुखोई से ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण किया था। सैन्य सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को रेगिस्तान की प्रचंड गर्मी में डीआरडीओ ने गाइडेड बम का परीक्षण किया। सुखोई फाइटर जेट से इस बम को पोकरण स्थित फायरिंग रेंज में पहले से निर्धारित लक्ष्य की तरफ 30 किलोमीटर पहले दागा गया। हवा में 30 किलोमीटर की दूरी तय कर इस बम ने अपने लक्ष्य पर प्रहार किया। इस अवसर पर डीआरडीओ के वैज्ञानिक और रक्षा विशेषज्ञ मौके पर मौजूद थे। उन्होंने इसकी प्रहार क्षमता जांचने के बाद परीक्षण को पूरी तरह से सफल बताया। उन्होंने कहा कि यह बम अपने सभी मानकों पर एकदम खरा उतरा। इस गाइडेड बम के मिल जाने से एयरफोर्स की मारक क्षमता में खासा इजाफा होगा। यहां यह गौरतलब है कि गाइडेड बम को लक्ष्य से काफी पहले दागा जाता है। फाइटर जेट से दागे जाने के बाद यह अपने लक्ष्य को तलाश करते हुए हवा में तैरते हुए उसकी तरफ बढ़ता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned