शिक्षा सेतु' से ड्रॉपआउट बच्चियों को मिलेगी शिक्षा

— महिला एवं बाल विकास विभाग की इंदिरा महिला शक्ति योजना
— महिला सशक्तीकरण के लिए 1 हजार करोड़ की है योजना

By: Tasneem Khan

Published: 05 Sep 2020, 11:50 AM IST

जयपुर। राज्य के हर जिले में अब हर ड्रॉप आउट लड़की को फिर से शिक्षा मिलेगी। इसके लिए राज्य सरकार की बजट योजना शिक्षा सेतु लागू कर दी गई है। महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना के तहत ही बालिका शिक्षा के लिए शिक्षा सेतु योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग के फील्ड फंक्शनरीज के माध्यम से हर ड्रॉपआउट बालिका की जानकारी जुटाई जाएगी और उसे फिर से शिक्षा दिलाने की जिम्मेदारी भी विभागीय अधिकारियों की होगी। बालिकाओं या महिलाओं को राजस्थान स्टेट ओपन स्कूल के माध्यम से निशुल्क पढ़ाया जाएगा। वहीं माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा की व्यवस्था भी की जाएगी।

कोरोना महामारी से हुआ शिक्षा पर असर
कोरोना महामारी का असर स्वास्थ्य ही नहीं बच्चों की शिक्षा पर भी हो रहा है। इस कारण से बड़ी संख्या में बालिकाओं के ड्रॉप आउट होने जा रही हैं। इस असर को रोकने के लिए इस योजना का क्रियान्वयन शुरू कर दिया गया है। ड्रॉपआउट और किसी कारण से औपचारिक शिक्षा से दूर महिलाओं को भी प्रोत्साहित कर उन्हें स्टेट ओपन स्कूल के माध्यम से शिक्षा दिलाई जाएगी और आजीविका के अवसर भी उपलब्ध करवाए जाएंगे।

निशुल्क होगी पढ़ाई
इस योजना के तहत राजस्थान स्टेट ओपन स्कूल पोर्टल पर आॅनलाइन पंजीकरण करवाया जाएगा। इसके लिए बालिका या महिला से कोई प्रवेश शुल्क या प्रयोगिक शुल्क नहीं लिया जाएगा। इस शुल्क का पुनर्भरण निदेशालय महिला अधिकारिता विभाग करेगा।

1 हजार करोड़ की योजना
राज्य के बजट 2019—20 में राज्य सरकार की ओर से एक हजार करोड़ रुपए के साथ इंदिरा महिला शक्ति निधि का गठन किया गया था। इस राशि से इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना की शुरुआत की गई। इसके तहत महिलाओं को बिजनेस के लिए सहयोग करना, आधुनिक अनुसंधान के लिए सहायता देना, कौशल विकास के लिए प्रशिक्षण, पीड़ित महिलाओं का पुनर्वास और बालिकाओं के लिए शिक्षा सेतु जैसी योजनाएं शामिल की गई हैं।

Tasneem Khan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned