New 'Udta' Punjab: ...ताकि वे न जाएं मौत के दोराहे पर!!

Sangeeta Chaturvedi

Updated: 13 Aug 2019, 10:30:08 AM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

New 'Udta' Punjab: नशा समाज और देश के लिए घातक है... आज युवा वर्ग नशे का सबसे अधिक आदि है। इसी को लेकर हिमाचल की महिलाएं आगे आई हैं... ये नशे के खिलाफ नारी शक्ति की मोर्चेबंदी है... हिमाचल के रामपुर में महिलाओं ने नशे के खिलाफ एकजुट हो मोर्चा खोल दिया है... महिलाओं ने नशामुक्त समाज के लिए खास अभियान छेड़ दिया है.. डकोला गांव और आसपास के इलाकों में इन महिलाओं ने भांग के पौधों को उखाडऩा शुरू कर दिया है... उनका कहना है कि नशे से पीढिय़ां बर्बाद हो रही हैं.. समाज बर्बाद न हो और नौजवान बच सकें... इसलिए नशे के खिलाफ अभियान छेड़ा है... हम सब मिलकर भांग को उखाड़ फेंकेंगे... महिलाओं ने कहा जहां भी भांग है, उसे उखाड़ कर फेंकने की अपील समाज से भी की है.. महिलाओं ने ये भी अपील की है कि नशा न करें... अपना भविष्य बर्बाद न करें.. महिलाओं ने बताया कि वे नशे के खिलाफ लोगों को जागरूक कर रही हैं.. पूरे समाज को नशामुक्ति का संदेश दिया जा रहा है... क्योंकि लोग और युवा एक दूसरे को देखकर नशा करते हैं.... देश प्रदेश में नशा बढ़ रहा है इससे जड़ेें खोखली हो रही हैं... इसलिए नशे के दुष्प्रभावों से समाज को बचाने का यही तरीका है नशा खत्म कर दो.... जहां भी इस तरह की चीजें उपलब्ध हों, उन्हें खत्म कर दिया जाए... यहां इस बात का जिक्र करना बेहद जरूरी है कि ये केवल हिमाचल की समस्या नहीं है... नशे की गिरफ्त में देश के कई हिस्से हैं... कुछ इलाके तो नशे से खासे प्रभावित हैं... नेशनल ड्रग डिपेंडेंस ट्रीटमेंट (एनडीडीटीसी) एम्स (2019) की एक रिपोर्ट के आंकड़े चौंकाने वाले हैं... एनडीडीटीसी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि देश के करीब 16 करोड़ लोग शराब पीते हैं. 2004 से लेकर 2018 तक अफ ीम का इस्तेमाल पांच गुना बढ़ गया है..दुनिया भर में ड्रग्स के इस्तेमाल की तुलनात्मक सूची देखें तो जहां भारत में गांजा (कैनाबिस) से 1.2 प्रतिशत लोग प्रभावित हैं तो वहीं वैश्विक स्तर पर ये आंकड़ा 3.9 प्रतिशत है. नशीले पदार्थों के सेवन के मामले में भारत में अगर आंकड़ा 0.70 प्रतिशत है तो वैश्विक स्तर पर 2.06 प्रतिशत है.एनडीडीटीसी रिपोर्ट के मुताबिक कैनाबिस में भांग, गांजा और चरस का इस्तेमाल किया जा रहा है. सिक्किम और पंजाब राज्य में भांग का उपयोग, राष्ट्रीय औसत से भी तीन गुना ज्यादा है. इसके पिछले सालों में अलावा हेरोइन का इस्तेमाल भी बढ़ा है. 10 साल की उम्र के छोटे बच्चे भी इसका इस्तेमाल कर रहे हैं. महिलाएं भी इससे अछूती नहीं हैं.. रिपोर्ट के अनुसार देश में 90 लाख महिलाएं शराब, 40 लाख महिलाएं कैनाबिस और 20 लाख महिलाएं अफीम का सेवन करती हैं. नशा करने वाली इन महिलाओं की उम्र 10-75 साल के बीच की है...

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned