Corona Effect: 'कोरोना काल' में निजी एयरलाइंस की हो रही चांदी ही चांदी

विदेशों से यात्रियों को वापस लाने के लिए वसूली जा रही मोटी रकम

खाड़ी देशों के लिए हो रही आवाजाही

By: SAVITA VYAS

Published: 20 Sep 2020, 09:37 PM IST

जयपुर। कोरोना काल में आर्थिक तंगहाली को दूर करने के लिए निजी एयरलाइंस कंपनियां भी कोई कसर नहीं छोड़ रही है। जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बीते कई दिनों से ऐसे ही हालात देखने को मिल रहे हैं। दरअसल, देश के नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कोरोना संक्रमण के चलते 30 सितंबर तक अंतरराष्ट्रीय हवाई उड़ानों पर रोक लगाई हुई है, लेकिन नियामक एजेंसी डीजीसीए से अनुमति लेकर एयरलाइंस तीन से चार जगहों के लिए अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स का संचालन कर रही है। ऐसे में यात्रियों से जयपुर आने के लिए किराए के नाम पर मोटी रकम वसूल की जा रही है।

एयर इंडिया को दिया था जिम्मा
पहले विदेशों में फंसे प्रवासियों को वापस लाने के नाम पर वंदे भारत मिशन के तहत एयर इंडिया एयरलाइन ने उड़ानें शुरू की गई थी। अब अनलॉक के साथ ही निजी एयरलाइंस के दबाव में उड्डयन मंत्रालय ने इसे पहले इवेक्युएशन उड़ान और अब एयर ट्रांसपोर्ट बबल का नाम दिया है।


घरेलू उड़ानों की बात की जाए तो वर्तमान समय में रोजाना 26 के आसपास उड़ानें यहां से संचालित हो रही है। मुंबई, बेंगलुरु, हैदराबाद के लिए अच्छा यात्रीभार मिल रहा है। यात्रीभार कुछ जगहों के लिए पूरा नहीं मिलने से उड़ानों का संचालन सप्ताह में चार या पांच दिन कर रही है। साथ ही एयरलाइन अब 70 से 95 सीट क्षमता के छोटे विमान संचालित कर रही है। स्पाइसजेट की सुबह 7 बजे अमृतसर की उड़ान सप्ताह में चार दिन, एयर इंडिया की सुबह 10.20 बजे बेंगलुरू की उड़ान सप्ताह में चार दिनए एयर एशिया की शाम 5.20 बजे पुणे की उड़ान सप्ताह में पांच दिन, एयर इंडिया की शाम 4.10 बजे अहमदाबाद की उड़ान सप्ताह में तीन दिनए एयर इंडिया की शाम 5 बजे दिल्ली की उड़ान सप्ताह में दो दिन संचालित की जा रही है।

शेड्यूल अपने हिसाब से कर रही तय

फिलहाल घरेलू यात्रियों के साथ-साथ निजी एयरलाइंस विदेशों के लिए अपने हिसाब से अलग-अलग शेड्यूल के मुताबिक उड़ानों का संचालन कर रही है। बीते डेढ़ महीने से दुबई सहित अन्य जगहों के लिए यह भी तय नहीं है कि एक ही समय पर रोजाना उड़ान संचालित होगी। इसको लेकर जयपुर एयरपोर्ट के डायरेक्टर जेएस बलहारा ने कहा कि एयरलाइंस अपने हिसाब से उड़ानों का संचालन तय करती है। ऑथिरिटी को पहले से कोई जानकारी नहीं होती है, लेकिन पूरी अनुमति के साथ ही संचालन किया जाता है। वहीं कोरोना की जांच सहित अन्य विशेष जानकारियों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

Corona virus
SAVITA VYAS Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned