भादो में जमकर बरसे मेघ, छलकने लगे बांध, देखें वीडियो

राजसमंद जिले का बाघेरी नाका बांध हुआ लबालब

By: SAVITA VYAS

Published: 24 Aug 2020, 03:27 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर। प्रदेशभर में मेहरबान मानसून से बांधों का भरने का सिलसिला शुरू हो गया है। राजसमंद जिले का बाघेरी नाका बांध आज सुबह छलक गया। बांध की भराव कुल 32 फिट है। बनास नदी से जुड़ा बाघेरी नाका बांध पर्यटक स्थल होने के साथ सैकड़ों गांवों के लिए पेयजल का स्रोत है। बांध के छलकने का लोग सुबह से ही इंतजार कर रहे थे। छलकने की सूचना मिलते ही क्षेत्र में खुशी का माहौल है। जलग्रहण क्षेत्रों में पिछले 20 घण्टों से लगातार बारिश का दौर जारी है।

10 साल बाद एक बार फिर बोरखंडी बांध टूटा
इधर, टोंक जिले की पीपलू उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत बोरखंडीकलां में बोरखंडी बांध बरसात का अत्यधिक पानी के आने के बाद आज सुबह अचानक टूट गया। टूटने की सूचना पर पीपलू तहसीलदार कैलाशचंद्र मीणा, ग्राम पंचायत सरपंच रामलाल मीणा ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंचे। ग्राम पंचायत प्रशासन ने बांध टूटने की सूचना देकर निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को पहले ही सतर्क कर दिया था। बोरखंडी समीप लाखा की ढाणी में बांध पानी चारों और हो जाने से जलमग्न हो गई, लेकिन पंचायत की ओर से सूचित किए जाने से ग्रामवासी घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचे गए। ऐसे में अभी तक किसी प्रकार की जान माल की हानि नहीं हुई है। इधर घटना की सूचना पर पीपलू के कार्यवाहक थाना प्रभारी ओमप्रकाश गोरा मय पुलिस जाब्ते के मौके पर पहुंचे। जिन्होंने भीड़ को नियंत्रित करते हुए आस-पास के क्षेत्रों में मुनादी करा कर ग्रामीणों को सचेत किया। प्रशासन बहते हुए व्यर्थ पानी को रोकने को लेकर मौके पर जेसीबी तथा एलएनटी मशीन मंगवाकर कटाव को मिट्टी से रोकने के प्रयास भी किए तथा लेकिन फि लहाल पानी का कटाव बहाव अत्यधिक है।

बोरखंडी-नया टीला मार्ग पूर्णतया बाधित
बांध के टूटने से बोरखंडी-नया टीला मार्ग पूर्णतया बाधित हुआ है। आधा किलोमीटर तक सड़क पानी में जलमग्न हुई है। ग्रामीणों का यहां तांता लगा है। अच्छी बारिश होने से इस बार यह बांध पहली बारिश में भरकर छलक गया था। बांध की भराव क्षमता 8 फीट है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned