scriptE-FIR: Only 117 reports since 2018 | ई-एफआइआर:2018 से अब तक मात्र 117 रिपोर्ट | Patrika News

ई-एफआइआर:2018 से अब तक मात्र 117 रिपोर्ट

आपका वाहन चोरी हो जाए तो एफआइआर दर्ज कराने के लिए थाने के चक्कर लगाने के बजाय सीधे ई-एफआइआर दर्ज करा सकते हैैं। वर्ष 2018 में शुरू की गई ई-एफआइआर की व्यवस्था का प्रचार प्रसार नहीं होने से लोग इससे अनभिज्ञ हैं। पुलिस भी इसका प्रचार नहीं कर रही है। इसका नतीजा यह है कि वर्ष 2018 से अब तक वाहन चोरी की मात्र 117 ई-एफआइआर दर्ज हुई है। जबकि थाने में लिखित रिपोर्ट देकर डेढ़ वर्ष में वाहन चोरी की 31914 एफआइआर दर्ज कराई गई।

जयपुर

Published: August 01, 2022 09:26:47 pm

आपका वाहन चोरी हो जाए तो एफआइआर दर्ज कराने के लिए थाने के चक्कर लगाने के बजाय सीधे ई-एफआइआर दर्ज करा सकते हैैं। वर्ष 2018 में शुरू की गई ई-एफआइआर की व्यवस्था का प्रचार प्रसार नहीं होने से लोग इससे अनभिज्ञ हैं। पुलिस भी इसका प्रचार नहीं कर रही है। इसका नतीजा यह है कि वर्ष 2018 से अब तक वाहन चोरी की मात्र 117 ई-एफआइआर दर्ज हुई है। जबकि थाने में लिखित रिपोर्ट देकर डेढ़ वर्ष में वाहन चोरी की 31914 एफआइआर दर्ज कराई गई।

Cumin theft case
Cumin theft case

दोनों एफआइआर में कोई फर्क नहीं
एससीआरबी के डीआइजी शरत कविराज ने बताया कि थाने में सीधी दर्ज एफआइआर और ई-एफआइआर में कोई फर्क नहीं है। दोनों एफआइआर का अनुसंधान एक समान होता है। ई-एफआइआर व्यवस्था का प्रचार करेंगे, ताकि लोगों को वाहन चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए थाने में नहीं जाना पड़े।

ऐसे करवा सकते हैं ई-एफआइआर दर्ज
ऑनलाइन एसएसओ आइडी बनाकर ई-एफआइआर दर्ज करवाई जा सकती है। सबसे बड़ी बात यह है कि यह सुविधा सिर्फ एक्सीडेंट के लिए ही है। जिसमें कोई जनहानि या फिर कोई विवाद न हुआ है।

थाना पुलिस की अभी यह व्यवस्था
चोरी की सूचना मिलने के बाद थाना पुलिस पीड़ित को 24 घंटे तक इधर-उधर वाहन को तलाशने की नसीहत देती है। परिवादी शिकायत लेकर अधिकारियों के यहां नहीं पहुंच जाए, इसके लिए वाहन की तलाश में नाकाबंदी करवाने का आश्वासन भी देती है। सिफारिश होने पर उसी दिन या अगले दिन चोरी की रिपोर्ट दर्ज कर लेती है। सिफारिश नहीं होने पर पीड़ित को चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए कई चक्कर कटवाती है।

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

शिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें ListVideo मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात, सात जिलों में राहत-बचाव का काम शुरू, लोगों को घरों से निकालाMaharashtra: खाने को लेकर कैटरिंग मैनेजर पर भड़के शिवसेना MLA संतोष बांगर, कर्मचारी को जड़ दिए थप्पड़कश्मीरी पंडित की हत्या मामले में सामने आई मनोज सिन्हा, महबूबा मुफ्ती व उमर अब्दुल्ला की प्रतिक्रिया, जानिए क्या कहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.