लॉकडाउन में इलाज की चिंता नहीं,आज से राजस्थान में ई—संजीवनी ओपीडी से मिलेगा इलाज

चिकित्सा विभाग ने प्रदेशवासियों को घर बैठे उपचार व परामर्श सेवाएं सुलभ कराने के लिए ऑनलाइन टेली-कंसल्टेंसी सेवा (चिकित्सकीय परामर्श सुविधा) का नवाचार किया है जिसके तहत esanjeevaniopd-in पोर्टल लॉन्च किया जाएगा

By: PUNEET SHARMA

Published: 04 May 2020, 09:24 AM IST

लॉकडाउन में इलाज की चिंता नहीं,आज से राजस्थान में ई—संजीवनी ओपीडी से मिलेगा इलाज—डिजीटल के लिए
चिकित्सा विभाग ने प्रदेशवासियों को घर बैठे उपचार व परामर्श सेवाएं सुलभ कराने के लिए ऑनलाइन टेली-कंसल्टेंसी सेवा (चिकित्सकीय परामर्श सुविधा) का नवाचार किया है जिसके तहत esanjeevaniopd-in पोर्टल लॉन्च किया जाएगा। यह सेवा लॉकडाउन या कफ्र्यू इत्यादि के समय में भी लाभकारी होगी। इसकी शुरूआत आज से चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा करेंगे।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार कोविड जैसी महामारी के बीच प्रदेश की जनता को अन्य बीमारियों से परेशान नहीं होने देगी। इसी के मद्देनजर आमजन के लिए इस पोर्टल की लॉन्चिग की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस सुविधा से मरीज घर बैठे गुणवत्तापूर्ण चिकित्सकीय सेवाएं निःशुल्क प्राप्त कर सकता है। इससे आने-जाने में लगने वाले समय की भी बचत होगी, जोकि लॉकडाउन में बेहद जरूरी है।

डॉ. शर्मा ने बताया कि इस पोर्टल को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, राजस्थान, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार व सी-डेक, मोहाली ने मिलकर तैयार किया है। इसे 4 मई से प्रांरभ कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोई भी व्यक्ति सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक 30 चिकित्सकों के माध्यम से सामान्य बीमारियों के लिए टेली कंसलटेंसी सेवाएं प्राप्त कर सकता है।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश में चिन्हित 100 चिकित्सा संस्थानों पर इस वेब पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन टेली-कन्सल्टेशन सेवाएं मरीजों को दी जाएंगी। इसके लिए 240 चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। यह योजना चरणबद्ध तरीके से लागू की जाएगी और आवश्यकतानुसार सेवाओं का विस्तार किया जाएगा, ताकि मरीजों को बेहतर सेवाएं दी जा सके। उन्होंने बताया कि मरीजों द्वारा टेली-कन्सल्टेंसी सेवा का अधिक से अधिक प्रचार भी किया जाना चाहिए।

ऎसे होगा आनलाइन पंजीकरण

सबसे पहले मरीज esanjeevaniopd-in पोर्टल से अपना मोबाइल नम्बर ओटीपी के माध्यम से सत्यापित कर पंजीकरण करे। इसके बाद पेशेंट आईडी और टोकन नंगर मरीज के मोबाइल पर एसएमएस के जरिए भेज दिए जाएंगे। मरीज अपने मोबाइल नम्बर या पेशेंट आईडी या टोकन नंबर डालकर सिस्टम में लॉग-इन करें। मरीज अपने बारी का इन्तजार करें और टोकन नम्बर आने पर ऑनलाइन चिकित्सक से परामर्श प्राप्त करे। टेली-कन्सल्टेशन पूर्ण होने पर ई प्रिस्कि्रप्शन डाउनलोड करें। इसकी सूचना भी मरीज के मोबाइल एसएमएस के माध्यम से प्राप्त होगी।

PUNEET SHARMA Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned