शिक्षा विभाग का कमाल, न पद स्थापना की और न ही वेतन दिया

शिक्षा विभाग का कमाल, न पद स्थापना की और न ही वेतन दिया

aniket soni | Updated: 31 Oct 2015, 01:18:00 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

शिक्षा विभाग की लापरवाही के कारण अलवर जिले के 103 माध्यमिक व सीनियर माध्यमिक विद्यालय बिना शारीरिक शिक्षक के रह गए हैं।

शिक्षा विभाग की लापरवाही के कारण अलवर जिले के 103 माध्यमिक व सीनियर माध्यमिक विद्यालय बिना शारीरिक शिक्षक के रह गए हैं।

यही नहीं सेटअप परिवर्तन में प्रारम्भिक से माध्यमिक शिक्षा में आए 53 शारीरिक शिक्षकों को वेतन मिलने को लेकर असमंजस बना हुआ है जिन्हें पद होने के बाद भी पदस्थापित नहीं किया गया।

शिक्षा विभाग ने सितम्बर माह में प्रारम्भिक शिक्षा में लगे शारीरिक शिक्षकों को सेटअप परिवर्तन कर उन्हें माध्यमिक शिक्षा में भेजा जिनके स्कूल क्रमोन्नत होकर माध्यमिक और सीनियर माध्यमिक हो गए थे।

इसमें विद्यालयों में 30 सितम्बर 2014 तक की छात्र संख्या को आधार माना गया। उस संख्या के आधार पर विभिन्न ग्रेड के शारीरिक शिक्षक लगाए जाने थे।

विद्यालयों में 250 विद्यार्थियों पर थर्ड ग्रेड, 250 से 750 विद्यार्थी होने पर सैकेंड ग्रेड और 750 से अधिक विद्यार्थी संख्या में प्रथम श्रेणी के शारीरिक शिक्षक को लगाया जाना था। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक प्रथम कार्यालय ने तो 103 विद्यालयों में एक भी शारीरिक शिक्षक नहीं होने के बावजूद  उनके इनकी मांग शून्य दिखा दी।

यह कहते हैं विभागीय अधिकारी

विष्णु स्वामी शिक्षा उप निदेशक माध्यमिक शिक्षा जयपुर संभाग ने बताया कि जो शारीरिक शिक्षक पद स्थापित होने से रह गए हैं, उन्हें पद स्थापित करने के लिए निदेशालय को लिखा गया है। यदि इसका फैसला जल्दी नहीं हुआ तो उन्हें वापस प्रारम्भिक शिक्षा में भेज दिया जाएगा। जिन 103 स्कूलों में शारीरिक शिक्षक नहीं लगे हैं, उनमें नए पद सृजित किए जाएंगे।

अब वेतन मिलने में परेशानी

पूर्व में ये शारीरिक शिक्षक प्रारम्भिक शिक्षा के मद में थे। शिक्षा विभाग ने 57 शारीरिक शिक्षकों को पद स्थापित नहीं किया। इन शिक्षकों को प्रारम्भिक शिक्षा विभाग माध्यमिक शिक्षा में भेज चुका है और उन्हें माध्यमिक शिक्षा से वेतन व्यवस्था होनी थी।

वर्तमान में इनकी वैकल्पिक वेतन व्यवस्था 30 सितम्बर तक शिक्षा निदेशालय की ओर से की गई थी। अब इनकी वेतन व्यवस्था प्रारम्भिक और माध्यमिक शिक्षा दोनों के पास ही नहीं है।

प्रत्येक विद्यालय में लगना था एक शारीरिक शिक्षक

शिक्षा विभाग को माध्यमिक व सीनियर माध्यमिक विद्यालय में शारीरिक शिक्षक लगाना था। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक प्रथम को सेटअप परिवर्तन में आए शारीरिक शिक्षकों को अन्य स्कूलों में पद स्थापित करना था।

इसके बावजूद यहां तृतीय वेतन श्रृंखला से आए 57 शारीरिक शिक्षकों को प्रारम्भिक शिक्षा के स्कूलों में पद स्थापित ही नहीं किया गया। ये शारीरिक शिक्षक सेटअप परिवर्तन के आदेश के बाद भी पद स्थापित नहीं हो सके। शिक्षा विभाग मात्र 235 शारीरिक शिक्षकों को ही पद स्थापित कर पाया।
Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned