आरयूएचएस में फिर एक बुजुर्ग मरीज ने की आत्महत्या, एक सप्ताह में दूसरा मामला

— एक सप्ताह में दूसरा मामला
— मृतक की कोरोना जांच भी आई थी नेगेटिव
— सांस लेने में तकलीफ होने पर परिजन उन्हें धौलपुर से एसएमएस अस्पताल लाए थे

By: kamlesh

Published: 13 Jul 2020, 07:43 PM IST

जयपुर। प्रताप नगर स्थित आरयूएचएस अस्पताल में सोमवार को 60 वर्षीय मरीज ने आत्महत्या कर ली। अस्पताल में पिछले एक सप्ताह में आत्महत्या की दूसरी घटना हुई है। कोविड—19 के लिए डेडिकेटेड आरयूएचएस अस्पताल में सोमवार सुबह बुजुर्ग की मौत से सनसनी फैल गई। सुबह सेमी आईसीयू वार्ड के पास लकड़ी की ढांच पर फंदे से झूलते हुए बुजुर्ग को लोगों ने देखा। उन्हें फंदे से उतारकर वार्ड में भर्ती किया, परंतु उनकी मौत हो चुकी थी। इससे पहले गत 8 जुलाई को भी 78 वर्षीय मरीज ने दूसरी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली।

डीसीपी ईस्ट राहुल जैन ने बताया कि मृतक रामनाथ (60) धौलपुर के केरीबाड़ी के रहने वाले थे। 10 जुलाई को उन्हें सांस में तकलीफ के कारण परिजन धौलपुर से एसएमएस अस्पताल लेकर आए थे। डॉक्टर्स ने कोरोना संदिग्ध मानते हुए उन्हें आरयूएचएस में रैफर कर दिया। यहां पर उनकी कोरोना जांच की गई। जोकि नेगेटिव आई थी। नेगेटिव रिपोर्ट के बारे में अस्पताल ने उन्हें रविवार को ही बता दिया था। उन्होंने आत्महत्या क्यों कि इसका पता नहीं चल सका है।

आरयूएचएस प्रिंसिपल डॉ. सुधांधु कक्कड़ ने बताया कि सुबह करीब 5 बजे नर्सिंग स्टाफ और डॉक्टर राउंड ले रहे थे। तब मरीज अपने बैड पर नहीं था। बाद में कोरिडोर के पास ढांच के पास बैठा हुआ दिखा। नर्सिंग स्टाफ को शक हुआ तो वह उसके पास गया। उसे तुरंत आइसीयू में लेकर आए।

आरयूएचएस में सुरक्षा इंतजाम में लगे एसआइ सुंदरलाल ने बताया कि सुबह करीब 8 बजे चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित किया था। वह सेमी आइसीयू वार्ड में ही भर्ती थे। उन्होंने खुद के गमछे से ही फंदा लगाया और लकड़ी की ढांच के अंदर बैठकर के फंदा लगाया। जोकि बेहद मुश्किल है। बुजुर्ग आत्महत्या का कदम क्यों उठाया, यह पता नहीं चल सका है। परिजनों को उनका शव पोस्टमार्टम करवाने के बाद सुपुर्द कर दिया।

coronavirus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned