CWC की बातें बाहर आने पर गहलोत नाराज, राहुल ने समीक्षा बैठक में शामिल होने से किया इंकार

CWC की बातें बाहर आने पर गहलोत नाराज, राहुल ने समीक्षा बैठक में शामिल होने से किया इंकार

abdul bari | Updated: 27 May 2019, 05:55:26 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

- राहुल ने हार के बाद अपने इस्तीफे की पेशकश की थी, लेकिन CWC ने एक प्रस्ताव पारित कर उसे नामंजूर कर दिया और राहुल अब भी अपने इस्तीफे पर अड़े हुए हैं।

जयपुर।
प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों पर लगातार दूसरी बार सूपड़ा साफ होने के बाद कांगेस में हार को लेकर मचा घमासान गहराता जा रहा है। आज दिल्ली में राजस्थान की प्रस्तावित समीक्षा बैठक में राहुल गांधी ने शामिल होने से इंकार कर दिया है। बताया जा रहा है कि राहुल ने हार के बाद अपने इस्तीफे की पेशकश की थी, लेकिन CWC ने एक प्रस्ताव पारित कर उसे नामंजूर कर दिया और राहुल अब भी अपने इस्तीफे पर अड़े हुए हैं। जिससे नाराज होकर राहुल ने बैठक में शामिल होने से मना कर दिया साथ ही इसकी वजह यह भी बताई जा रही है कि राहुल कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बेटों को टिकिट दिए जाने से भी खुश नहीं थे। राजनीतिक गलियारों में चर्चा हो रही है कि राहुल और गहलोत के बीच नाराजगी अब भी बरकरार है। दूसरी ओर रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मीडिया में चल रही खबरों का खंडन किया है।

इससे पहले राहुल गांधी से केसी वेणुगोपाल और अहमद पटेल ने मुलाकात की, जिसके बाद सीएम गहलोत की वेणुगोपाल से हुई मुलाकत हुई। इस दौरान गहलोत ने वेणुगोपाल से CWC की बैठक की बातें मीडिया में आने पर नाराजगी जाहिर की। गहलोत ने कहा कि इससे पार्टी की छवि खराब हो रही है।


यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी के आवास पर होने वाली इस बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, पीसीसी चीफ सचिन पायलट वरिष्ठ नेता एके एंटनी के नेतृत्व में गठित कमेटी के साथ हार के कारणों की समीक्षा होनी थी। जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को भी शामिल होना था।


पार्टी के जानकार सूत्रों की माने तो पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के गले ये बात नहीं उतर रही है कि आखिर पांच माह पहले राज्य में कांग्रेस की सरकार बनी और सरकार के रहते आखिर पूरी 25 सीटों पर पार्टी का सूपड़ा साफ कैसे हो गया।

एक सप्ताह में सौंपनी है रिपोर्ट
बताया जाता है कि राजस्थान में हार के कारणों को लेकर पार्टी नेताओं से फीडबैक के बाद एके एंटनी के नेतृत्व में गठित कमेटी को अपनी रिपोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंपनी है। बताया जाता है कि रिपोर्ट सौंपने के बाद ही पार्टी में कुछ परिवर्तन भी देखने को मिल सकते हैं। राजस्थान के बाद दूसरे राज्यों के नेताओं की भी बैठकें होंगी, जिनमें हार की समीक्षा की जाएगी। बता दें कि हार की समीक्षा करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एके एंटनी के नेतृत्व में एक कमेटी गठित की जिसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कैप्टन अमरिंदर सिंह और कमलनाथ को शामिल किया गया है ।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned