चुनावी बॉण्ड की खरीद का कल अंतिम दिन

राजनीतिक दलों को चंदा देने के लिए शुरू की व्यवस्था
एसबीआई की 29 अधिकृत शाखाओं पर 13 जनवरी से हो रही खरीद

जयपुर में एसबीआई की सांगानेरी गेट सि्थत ब्रांच से हो रही खरीद

जयपुर।

देश में भारतीय राजनीतिक दलों के लिए चुनावी बॉण्ड की 13 जनवरी से शुरू हुई खरीद का बुधवार को अंतिम दिन है। वित्त मंत्रालय ने 13 से 22 जनवरी तक के लिए बॉण्ड की खरीद चालू की थी। यह चुनावी बॉण्ड एसबीआई की देशभर की 29 अधिकृत ब्रांचों से खरीदा जा रहा है।


भारत सरकार ने 2 जनवरी 2018 को राजपत्र अधिसूचना संख्या 20 के जरिए चुनावी बॉण्ड योजना 2018 को अधिसूचित किया था। योजना के प्रावधानों के अनुसार चुनावी बॉण्ड की खरीद ऐसे व्यक्ति की ओर से की जा सकती है, जो भारत का नागरिक हो या भारत में निगमित या स्थापित हो। व्यक्तिगत रूप में कोई भी एक व्यक्ति एकल रूप से या अन्य व्यक्तियों के साथ संयुक्त रूप से चुनावी बॉण्डों को खरीद सकता है। केवल ऐसे राजनीतिक दल, जो जन प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 (1951 का 43) की धारा 29-ए के तहत पंजीकृत हों और जिन्होंने पिछले आम लोकसभा चुनावों या राज्य विधानसभा चुनावों में डाले गए कुल मतों के एक प्रतिशत से कम मत प्राप्त नहीं किए हों तो वे चुनावी बॉण्ड प्राप्त करने के पात्र होंगे। चुनावी बॉण्ड को कोई भी पात्र राजनीतिक दल केवल अधिकृत बैंक के किसी बैंक खाते के माध्यम से ही भुना सकेगा।

बॉण्ड की खरीद का यह 13वां चरण चरण चल रहा है। वित्त मंत्रालय ने एसबीआई को 29 शाखाओं के माध्यम से चुनावी बॉण्डों को जारी करने तथा भुनाने के लिए अधिकृत किया है। जिसके लिए 13 से 22 जनवरी 2020 तक की अवधि तय की गई थी। देश के हर बड़े राज्य में संभवत: एसबीआई की मुख्य एक ब्रांच को अधिकृत किया गया है।

चुनावी बॉण्ड जारी होने की तारीख से पंद्रह दिनों के लिए मान्य होंगे। यदि वैधता अवधि समाप्त होने के बाद चुनावी बॉण्ड जमा किया जाता है तो किसी भी भुगतान प्राप्तकर्ता राजनीतिक दल को भुगतान नहीं किया जाएगा। किसी भी पात्र राजनीतिक दल की ओर से अपने खाते में जमा किए गए चुनावी बॉण्ड को उसी दिन उसके खाते में डाल दिया जाएगा।

Sunil Sisodia Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned