कोरोना संक्रमण को देखते हुए जारी हुई चुनावी तैयारियों की गाइडलाइन

सरकारी कार्यालयों में पूर्ण क्षमता के साथ कामकाज शुरू होने की सरकारी अनुमति के बाद अब पंचायतीराज संस्थाओं और नगरीय निकायों ( election of panchayat institutions and urban bodies. ) के चुनाव से जुड़ी तैयारियां पूरी करने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ( State Election Commission ) ने जिला कलेक्टरों ( district collectors ) को दिशा निर्देश जारी किए हैं।

By: Ashish

Updated: 01 Jun 2020, 07:35 PM IST

जयपुर
Election of panchayat institutions and urban bodies : सरकारी कार्यालयों में पूर्ण क्षमता के साथ कामकाज शुरू होने की सरकारी अनुमति के बाद अब पंचायतीराज संस्थाओं और नगरीय निकायों ( election of panchayat institutions and urban bodies. ) के चुनाव से जुड़ी तैयारियां पूरी करने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ( State Election Commission ) ने जिला कलेक्टरों ( district collectors ) को दिशा निर्देश जारी किए हैं। कोरोना संक्रमण ( Corona infection ) को देखते हुए आयोग ने सुरक्षा से जरूरी उपायों की पालना करवाने के साथ ही मतदाता सूचियों में प्रत्येक भाग में मतदाओं की संख्या पहले की तुलना में आधी कर दी गई है। सूचियों पर दावे और आक्षेप प्रस्तुत करने के लिए आॅनलाइन माध्यम को बढ़ावा देने के निर्देश भी दिए गए हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग ने बाड़मेर और भरतपुर को छोड़कर बाकी 31 जिलों में 129 नगरीय निकायों के लिए निर्वाचक नामावलियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम घोषित करने हुए दिशा निर्देश जारी किए हैं। इन 31 जिलों में 4450 वार्डों में चुनाव के लिए ये सूचियां तैयार होंगी। वहीं 26 जिलों में पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव के लिए निर्वाचक नामवलियों का अंतिम प्रकाशन 10 जून को करवाने के निर्देश भी दिए हैं।

नगरीय निकायों के लिए यह रहेगा कार्यक्रम
राज्य निर्वाचन आयोग के उप सचिव अशोक जैन की ओर से जारी दिशा निर्देशों के मुताबिक 31 जिलों में 129 नगरीय निकायों का कार्यकाल अगस्त में पूरा हो रहा है। ऐसे में इनमें निर्वाचक नामावलियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम घोषित किया गया है। आयोग की ओर से घोषित कार्यक्रम के मुताबिक 129 नगरीय निकायों के लिए जिलों में 27 जून को निर्वाचक नामावलियों के प्रारूप का प्रकाशन करना होगा। इसके बाद 3 जुलाई तक दावे, आक्षेप प्राप्त किए जा सकेंगे। 10 जुलाई तक प्राप्त दावों और आक्षेपों का निस्तारण करने के निर्देश दिए गए हैं। 17 जुलाई तक पूरक सूचियां तैयार करनी होंगी। 20 जुलाई को सूचियों का अंतिम प्रकाशन करना होगा। मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण के लिए अर्हता तिथि 1 जनवरी 2020 रखी गई है।

कोरोना संक्रमण से किए कई बदलाव
खास बात है कि सामान्यतया मतदाता पुनरीक्षण सूचियां तैयार करवाते समय प्रत्येक भाग में 1400 मतदाताओं को शामिल किया जाता है लेकिन कोविड—19 को देखते हुए प्रत्येक भाग में अब सिर्फ 700 मतदाताओं के नाम ही शामिल करने के निर्देश दिए गए हैं। ताकि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मतदान के समय सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जा सके। कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत मतदान केन्द्रों और वार्डों में सभाएं आयोजित कर मतदाता सूचियों का पठन पाठन नहीं करवाया जाएगा। सूचियों पर दावे और आपत्ति करने वालों को मतदान केन्द्र पर मास्क लगाकर आने पर ही प्रवेश दिया जाएगा।

यह दिशा निर्देश भी किए जारी
साथ ही यह निर्देश भी दिए गए हैं कि नगरीय निकाय में जहां वार्डों को भागों में विभाजित किया जाएगा, ऐसे में विधानसभा मतदाता सूची के वे भाग जो पूर्ण रूप से उसी भाग में शामिल हैं, साथ ही उनमें मतदाताओं की संख्या करीब 700 है तो उन्हें यथावत रूप से नगरीय निकाय के वार्ड के रूप में मान लिया जाएगा। मतदाताओं की संख्या 700 से ज्यादा होने पर विधानसभा के उस भाग को दो या अधिक भागों में संभवतया बराबर रूप से विभाजित किया जाएगा। इसके अलावा अन्य दिशा निर्देश भी दिए गए हैं।


पंचायतीराज संस्थाओं के लिए यह निर्देश
इसी के साथ ही राज्य में 26 जिलों में पंचायती राज संस्थाओं की निर्वाचक नामावली के अंतिम प्रकाशन को लेकर भी चुनाव आयोग ने निर्देश जारी किए हैं।आयोग के सचिव और मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्याम सिंह राजपुरोहित ने 10 जून को निर्वाचक नामावलियों का अंतिम प्रकाशन करवानेे के निर्देश दिए हैं। पहले अंतिम प्रकाशन की तिथि 23 मार्च को किया जाना है, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते कामकाज प्रभावित होने से अंतिम प्रकाशन अब 10 जून को करना होगा। अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बांरा, बाड़मेर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, चूरू, दौसा, धौलपुर, हनुमानगढ़, जयपुर, जैसलमेर, जालौर, जोधपुर, झुन्झुनू, करौली, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, सवाईमाधोपुर, सीकर, सिरोही, उदयपुर और श्रीगंगानगर जिलों की पंचायतीराज संस्थाओं के लिए अब 10 जून को सूचियों का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned