खुशखबरी : नाहरगढ में 3 जगह होगी हाथी सफारी, पर्यटक उठाएंगे लुत्फ

नाहरगढ़ बायलॉजिकल पार्क में तीन जगह कराई जाएगी हाथी सफारी

By: pushpendra shekhawat

Published: 18 Aug 2017, 09:53 PM IST

जयपुर. वन्यजीव प्रेमियों और पर्यटकों के लिए अच्छी खबर है। नाहरगढ़ बायलॉजिकल पार्क में तीन जगह हाथी सफारी कराई जाएगी। वहीं, लॉयन सफारी के लिए काम शुरू हो चुका है।नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क वन्यजीवों के लिए सुरक्षित रहने के साथ प्रजनन के लिए भी माकूल स्थान साबित हो रहा है। पर्यटकों का भी रुझान खूब देखने को मिल रहा है। इससे उत्साहित वन विभाग शीघ्र ही यहां हाथी सफारी और लॉयन सफारी शुरू करने वाला है। डीसीएफ सुदर्शन शर्मा ने बताया कि लॉयन सफारी का काम अगले वर्ष फरवरी तक पूर्ण होने की उम्मीद है। इसके समीप एक्जोटिक पार्क, हरपेरेटियम एवं रामसागर पर हाथी सफारी कराने की योजना बनाई गई है। इस पर शीघ्र काम शुरू हो जाएगा। जयपुर की हाथी सफारी विश्व प्रसिद्ध है। जयपुर आने वाले विदेशी पर्यटक अभी आमेर में ही इसका लुत्फ उठा पाते हैं।

 

लॉयन सफारी में तेजिका की फैमिली होगी शिफ्ट
बायोलॉजिकल पार्क में गत दिनों एशियाई शेरनी तेजिका ने तीन शावकों को जन्म दिया था। अब वे पूर्णत: स्वस्थ हैं। लॉयन सफारी का कार्य पूर्ण होने के बाद तेजिका, नर सिद्धार्थ व सुहासिनी को इस सफारी में शिफ्ट करने की विभाग की योजना है। पार्क में भेडिय़े, सियार व हायना ने भी शावकों को जन्म दिया है।

 

चिडिय़ाघर भी करना पड़ेगा खाली
सेन्ट्रल जू ऑथीरिटी ऑफ इंडिया ने चिडिय़ाघर से सभी वन्य जीवों को निकाल कर खुले पार्कों में रखने के निर्देश दे रखे हैं। इसके चलते रामनिवास बाग में स्थित चिडिय़ाघर को भी वन विभाग को खाली करना पड़ेगा। फिलहाल बड़ी संख्या में वन्य जीवों को नाहरगढ़ भेजा जा चुका है, जबकि शेष को भेजने का काम चल रहा है। जिन्हें जल्द—से—जल्द नाहरगढ भिजवा दिया जाएगा।

 

फैक्ट फाइल

- 720 हैक्टेयर है बायोलॉजिकल पार्क का कुल क्षेत्रफल
- 80 हैक्टेयर में बना है जूलॉजिकल पार्क
- 21 एनक्लोजर हैं जूलॉजिकल पार्क में, टाइगर, शेर, पैंथर सभी संकटग्रस्त प्रजातियां हैं यहां

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned