पिछली बार असफल रही सरकार, अब ​फिर खोली नारायण सर्किल से मनोचिकित्सालय तक Elevated Road की पोटली

पिछली कांग्रेस सरकार में भी हुए थी कवायद लेकिन विरोध के कारण बंद हुई थी फाइल

रामनिवास बाग में दूसरी भूमिगत पार्किंग की भी राह हुई आसान

जेडीए को सौंपा डीपीआर बनाने का काम

 

भवनेश गुप्ता / जयपुर। राजधानी जयपुर में नारायण सिंह सर्किल से गोविंद मार्ग होते हुए मनोचिकित्सालय तक एलीवेटेड रोड बनाने फ़ाइल फिर खुल गई है। करीब 2.2 किलोमीटर लंबाई में एलिवेटेड रोड का निर्माण होगा। नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल की अध्यक्षता में बुधवार को उनके आवास पर हुई बैठक में इस सबंध में यह तय हुआ। उन्होनें जेडीए अधिकारियों को डीपीआर बनाने के निर्देश दिए। हालांकि, पिछली कांग्रेस सरकार के समय भी जेडीए ने यह कवायद शुरू की थी लेकिन स्थानीय व्यापारी और लोगों के विरोध के कारण यह आगे नहीं बढ़ पाया। बैठक में धारीवाल ने एयरपोर्ट पार्किंग विवाद को जिला कलेक्टर व डीसीपी ट्रेफिक के स्तर पर सुलझाने के लिए निर्देश दिए। इस बैठक में नगरीय विकास विभाग के अलावा जेडीए, नगर निगम और स्मार्ट सिटी के अधिकारी भी थे।इसके अलावा रामनिवास बाग में दूसरी भूमिगत पार्किंग निर्माण का प्रस्ताव भी आगे बढ़ गया। दोनों प्रोजेक्ट का काम जेडीए ही करेगा एयर डीपीआर भी वही बनाएगा। इसके लिए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत पैसा मिलेगा। बैठक में यूडीएच एसीएस भास्कर ए. सांवन्त, जेडीसी टी. रविकांत सहित अन्य अधिकारी शामिल हुए।


1- एलिवेटेड रोड : गोविंद मार्ग पर दिनभर शहर से बाहर जाने वाली बसों के संचालन के कारण यातायात जाम की समस्या रहती है। इस कारण इस समस्या से निपटने के लिए एलीवेटेड रोड निर्माण का मामला इससे पहले के कार्यकाल में भी उठा था। जेडीए अफसर और यूडीएच मंत्री का मानना है कि यहां एलिवेटेड रोड निर्माण ही प्रमुख विकल्प है। हालांकि, इसके लिए सड़क के दोनों और दुकानें-आवास टूटेंगे।इस मार्ग पर व्यापारियों का व्यापार चौपट होने की आशंका ज्यादा है। क्योंकि नारायण सिंह सर्किल से त्रिमूर्ति सर्किल तक वैसे ही रोड की चौड़ाई कम है। यहां अगर एलीवेटेड रोड का रैम्प बनता है तो रोड के दोनों ओर जगह बहुत कम रह जाएगी।

2- चारदीवारी व रामनिवास बाग में पार्किंग : बैठक में चारदीवारी में नये पार्किंग स्थल तलाशने और रामनिवास बाग में मौजूदा पार्किंग के विस्तार पर भी चर्चा की गई। इसमें धारीवाल ने रामनिवास बाग पार्किंग विस्तार की डीपीआर बनाने के लिए कहा। साथ ही चारदीवारी में नये पार्किंग स्थल तलाशने और वहां पार्किंग व्यवस्था विकसित करने की बात कही।

3- एयरपोर्ट प्रशासन पर कसेंगे नकेल : जयपुर एयरपोर्ट पर 3 मिनट से ज्यादा रूकने पर जुर्माना राशी वसुलने के फैसले को खारिज किया। जयपुर शहर के ट्रेफिक मैनेजमेंट को लेकर यूडीएच मंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस पर सहमति बनी। पार्किग व्यवस्था के नाम पर की जाने वाली कालाबजारी पर यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल नें लगाम लगाने की बात कही है। कलेक्टर व डीसीपी ट्रेफिक को एयरपोर्ट पार्किंग विवाद का निस्तारण करने की जिम्मेदारी सौंपी है।

4-

4- शुरू होगा मैट्रो का ट्रायल : यूडीएच सचिव भास्कर ए. सावंत ने बताया कि चांदपोल से बड़ी चौपड़ तक बने अण्डरग्राउण्ड मेट्रो रूट पर अगले सप्ताह से ट्रायल रन शुरू होगा। ये ट्रायल रन अगले 45 दिनों तक चलेगा। ट्रायल रन के बाद कमीश्नर रेलवे सेफ्टी इसका निरीक्षण करेंगे और सेफ्टी सर्टिफिकेट मिलने के बाद आमजन के लिए मेट्रो का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

5- निजी बसों के प्रवेश पर लगेगी रोक : जयपुर शहर में दूसरे शहरों व राज्यों से आने-जाने वाली निजी बसें को शहर में प्रवेश पर रोक लगाने पर चर्चा हुई। धारीवाल ने बताया कि इसके लिए शहर के चार प्रमुख मार्ग के पास बस स्टेण्ड बनाने के निर्देश दिए। जहां इन निजी बस संचालकों को कैबिन बनाकर दिया जाए, ताकि बसें वहीं से चले और बाहर से आने वाली बसें भी वहीं आकर रूक जाए।

Bhavnesh Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned