संविदा कर्मचारी की कोविड से मौत, माता, पिता और पत्नी ने अलग-अलग किया 50 लाख का दावा

स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर कार्यरत एक कर्मचारी की कोविड से मौत विभाग के लिए जी का जंजाल बन रही है। मृतक संविदा कर्मचारी की कोविड से मृत्यु होने पर मिलने वाली अनुग्रह-सहायता राशि के लिए परिवार के तीन सदस्यों ने अलग-अलग आवेदन पत्र प्रस्तुत कर दिए है। इससे विभाग असमंजस में है कि परिवार के किस सदस्य को मिलने वाली 50 लाख रुपए की राशि के लिए अधिकृत माना जाए।

By: vinod

Published: 10 Jun 2021, 09:18 PM IST

बीकानेर। स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर कार्यरत एक कर्मचारी की कोविड से मौत विभाग के लिए जी का जंजाल बन रही है। मृतक संविदा कर्मचारी की कोविड से मृत्यु होने पर मिलने वाली अनुग्रह-सहायता राशि के लिए परिवार के तीन सदस्यों ने अलग-अलग आवेदन पत्र प्रस्तुत कर दिए है। इससे विभाग असमंजस में है कि परिवार के किस सदस्य को मिलने वाली 50 लाख रुपए की राशि के लिए अधिकृत माना जाए।
बीकानेर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, श्रीडूंगरगढ़ में कार्यरत संविदा कर्मचारी मंजीत स्वामी की 9 मई को कोरोना से मौत हो गई थी। मंजीत की मृत्यु के बाद पहले उसके पिता पुरुषोतम स्वामी ने सीएचसी में क्लेम राशि के लिए आवेदन प्रस्तुत किया। इसके बाद मृतक कर्मचारी की माता सुंदरावती स्वामी और पत्नी गायत्री देवी स्वामी ने भी सीएमएचओ कार्यालय में क्लेम राशि के लिए आवेदन पत्र प्रस्तुत कर दिए। क्लेम राशि के लिए तीन दावे प्रस्तुत होने से विभाग के अधिकारी भी असमंजस में है। तीन आवेदन होने से एक माह बाद भी क्लेम राशि स्वीकृति के लिए एक आवेदन सक्षम स्तर तक नहीं पहुंच पाया है। विभाग परिवार के सदस्यों में ही आम सहमति होने का इंतजार कर रहा है।

मांगी तथ्यात्मक रिपोर्ट

सीएमएचओ बीकानेर ने कनिष्ठ विशेषज्ञ अधिकारी प्रभारी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र श्रीडूंगरगढ़ को पत्र लिखकर सहायता राशि के लिए तीन आवेदन पत्र प्राप्त होने पर तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। पत्र में सीएमएचओ ने कहा है कि मृतक संविदाकर्मी मंजीत स्वामी की माता, पिता और पत्नी के प्रस्तुत दावों की विस्तृत जांच कर तथ्यात्मक रिपोर्ट मय संबंधित दावेदारों के संबंध में राज्यादेशों एवं विहित विधिक लॉ के तहत शपथ पत्र प्राप्त कर अविलम्ब निर्धारित प्रपत्र में मय मूल दस्तावेजों के साथ भिजवाने के निर्देश दिए है।
विभाग असमंजस में
कोविड मृतक संविदा कार्मिक के तीन आश्रितों की ओर से अनुग्रह-सहायता राशि के लिए दावा करने से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी असमंजस में है। विभाग में पहला मामला होने और स्पष्ट नियमों के सामने नहीं होने से विभाग के अधिकारी निर्णय लेने में भी अधिक सतर्कता बरत रहे हैं। मृतक संविदा कार्मिक के आश्रित आम सहमति से किसी एक सदस्य के नाम से दावा प्रस्तुत करें, विभाग अब तक इसी प्रयास में जुटा हुआ है।
तीन दावेदारों ने किए क्लेम
श्रीडूंगरगढ़सीएचसी में कार्यरत रहे संविदाकर्मी मंजीत स्वामी के तीन रिश्तेदार माता, पिता और पत्नी ने अनुग्रह-सहायता राशि के लिए अलग-अलग दावे प्रस्तुत किए है। परिवार के तीन सदस्यों के क्लेम आवेदन प्राप्त हो गए है। सहायता राशि के लिए एक से अधिक आश्रित को देने का नियम नहीं है। परिवार के सदस्यों में आम सहमति के आधार पर एक नाम भेजने के लिए श्रीडूंगरगढ़ सीएचसी इंचार्ज को पत्र लिखा गया है। तीन सदस्य क्लेम करेंगे तो राशि मिलना संभव नहीं होगा। अनुग्रह-सहायता राशि पचास लाख रुपए है।
-डॉ.ओ पी चाहर, सीएमएचओ, बीकानेर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned