कर्मचारी संगठनों की ओर से वेतन कटौती का विरोध जारी

अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ ( All Rajasthan State Employees United Federation ) द्वारा कर्मचारियों के वेतन से होने वाली कटौती के विरोध में ( Protest agains salary cuts ) चलाए जा रहे आंदोलन का सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में कर्मचारियों ने अपना समर्थन दिया है।

By: Ashish

Published: 14 Sep 2020, 07:08 PM IST

जयपुर
Protest agains salary cuts : अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ ( All Rajasthan State Employees United Federation ) द्वारा कर्मचारियों के वेतन से होने वाली कटौती के विरोध में ( Protest agains salary cuts ) चलाए जा रहे आंदोलन का सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में कर्मचारियों ने अपना समर्थन दिया है। महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष आयुदान सिंह कविया, महामंत्री तेजसिंह राठौड ने संयुक्त बयान जारी कर बताया कि राज्य कर्मचारी सरकार की जबरन वेतन वसूली के विरोध में लामबंद हो गए हैं। महासंघ की ओर से सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों के जरिए सरकार का ध्यान आकर्षण करवाते हुए आगाह किया कि यदि वेतन कटौती के निर्णय पर पुर्नविचार नहीं किया गया तो परिणाम सुखद नहीं होंगे।

कर्मचारियों के साथ सरकार दोहरे मापदण्ड अपनाते हुए उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रही है जो लोकतांत्रिक व्यवस्था में अनुचित और असंवैधानिक है। राज्य में यदि वाकई आर्थिक संकट है तो राज्य सरकार को सरकार की वित्तीय स्थिति सार्वजनिक करनी चाहिए एवं अब तक कर्मचारियों के वेतन से वसूली, स्थगित वेतन एवं अन्य स्त्रोतों से हुई आय और खर्च का हिसाब जनता के पटल पर रखना चाहिए। सरकार यदि कर्मचारियों के वेतन से जबरन वसूली के निर्णय को निरस्त नहीं करती है तो राज्यकर्मी सरकार का असहयोग करने के लिए मजबूर होंगे एवं इससे उत्पन्न होने वाली स्थिति के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार होगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned