scriptEWS women have become chakarghini between husband and father | पति और पिता के बीच चकरघिन्नी बनी हैं ईडब्ल्यूएस महिलाएं | Patrika News

पति और पिता के बीच चकरघिन्नी बनी हैं ईडब्ल्यूएस महिलाएं

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) प्रमाण-पत्र बनाने की प्रक्रिया को सरल कर सरकार ने लाखों अभ्यर्थियों को राहत दे दी है। लेकिन विवाहित महिलाएं अभी भी विसंगतियों को लेकर उलझन में हैं। ससुराल और पीहर के फेर में महिलाएं चकरघिन्नी हो रही हैं। स्थिति यह है कि इन महिलाओं के ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र अटके हुए हैं। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग में शामिल होने के बाद भी महिलाएं प्रतियोगी परीक्षाओं में आरक्षण का लाभ नहीं ले पा रही हैं।

जयपुर

Published: May 08, 2022 08:21:02 pm

जयपुर.

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) प्रमाण-पत्र बनाने की प्रक्रिया को सरल कर सरकार ने लाखों अभ्यर्थियों को राहत दे दी है। लेकिन विवाहित महिलाएं अभी भी विसंगतियों को लेकर उलझन में हैं। ससुराल और पीहर के फेर में महिलाएं चकरघिन्नी हो रही हैं। स्थिति यह है कि इन महिलाओं के ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र अटके हुए हैं। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग में शामिल होने के बाद भी महिलाएं प्रतियोगी परीक्षाओं में आरक्षण का लाभ नहीं ले पा रही हैं।
Women's Day
Women's Day
महिलाओं को ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट बनवाने के दौरान दो समस्याएं आ रही हैं। इन्हें पति के साथ पिता की इनकम का सर्टिफिकेट भी देना पड़ रहा है। ऐसे में जिन महिलाओं के पिता सम्पन्न हैं और पति की आय कम है, उन्हें आरक्षण का लाभ नहीं पा रहा है। इसके अलावा सरकार ने अभी तक स्पष्ट आदेश जारी नहीं किए हैं कि महिलाओं का ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र ससुराल में बनेगा या पीहर में। ऐसे में उपजिला कार्यालयों में महिलाएं चक्कर लगा रही हैं।
ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र को लेकर अभी भी कई विसंगतियां है। सरकार को इनका भी समाधान करना चाहिए। खासतौर से विवाहित महिलाओं के ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र नहीं बन पा रहे हैं।

दीपेन्द्र शर्मा, प्रदेश संयोजक विप्र फाउंडेशन शैक्षिक प्रकोष्ठ
ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र को सरलीकृत बनाने के लिए आय सर्टिफिकेट को तीन साल के लिए वैध किया है। महिलाओं को लेकर भी जो परेशानियां आ रही हैं, वे ध्यान में हैं। उनका परीक्षण कराया जा रहा है। नियमों के तहत समाधान करेंगे।
डॉ. समित शर्मा, शासन सचिव, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग


ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र में अजीब विसंगति
और राहत दो सरकार: ससुराल और पीहर के फेर में चकरघिन्नी महिलाएं
प्रक्रिया का हो सरलीकरण

मेरा ससुराल श्रीगंगानगर में और हनुमानगढ़ पीहर है। दोे बार ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र के लिए आवेदन कर चुकी, लेकिन नहीं बन रहा है। पति और पिता की आय निर्धारित सीमा से अधिक जा रही है। कंचन कुमारी, श्रीगंगानगर
मेरा ससुराल टोंक और पीहर भीलवाड़ा में है। माता-पिता सरकारी शिक्षक हैं। पति निजी कंपनी में हैं। हमारी सालाना आय पांच लाख से कम है। एक साल से प्रमाण-पत्र नहीं बन पा रहा। -अजय कुमारी
मेरा ससुराल बांदीकुई में और पीहर लालसोट है। ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र के लिए पहले बांदीकुई पूछा तो कहा कि पिता के घर से बनेगा। लालसोट कार्यालय गई तो बांदीकुई जाने के लिए कहा। सपना शर्मा, बांदीकुई
पति के सारे दस्तावेज लेकर उपजिला कलक्टर के कार्यालय में ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र बनवाने गई तो कहा गया कि पिता के नाम से बनेगा। अभी तक प्रमाण-पत्र अटका हुआ है। चक्कर लगाते-लगाते परेशान हो गई हूं।शिल्पा शर्मा, जयपुर
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Delhi News Live Updates: दिल्ली विधानसभाः शुरू हुआ मानसून सत्र, दुर्गेश पाठक ने ली शपथSidhu Moose Wala Murder: दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी, सिद्धू मूसेवाला को नजदीक से गोली मारने वाला शूटर अंकित गिरफ्तारMaharashtra Politics: महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट में एकनाथ शिंदे सरकार को मिला बहुमत, 164 विधायकों ने किया समर्थनपीएम मोदी आज जाएंगे आंध्र प्रदेश, अल्लुरी सीताराम राजू की प्रतिमा का करेंगे अनावरणहिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बड़ा हादसा, सैंज घाटी में गिरी बस, बच्चों समेत 16 लोगों की मौतNCR के एरिया का दायरा कम करना चाहती है हरियाणा सरकार, विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा जता चुके हैं विरोधसूरत फैमिली कोर्ट ने एक दिन में 303 मामलो का किया निपटारा, जज आरजी देवधारा ने कहा- यह एक दिन का रिकॉर्डDelhi News Live Updates: दिल्ली विधानसभाः शुरू हुआ मानसून सत्र, दुर्गेश पाठक ने ली शपथ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.