scriptExcise department of Rajasthan | राजस्थान में शराब के ठेकों को लेकर आई ये बड़ी खबर.... पहली बार ऐसा हो रहा प्रदेश में | Patrika News

राजस्थान में शराब के ठेकों को लेकर आई ये बड़ी खबर.... पहली बार ऐसा हो रहा प्रदेश में

यही कारण है कि सरकार एक महीने में भी शराब की 25 फीसदी तक दुकानें नहीं बेच सकी है। करीब 1900 दुकानों के लिए कल यानि 28 अप्रेल को फिर से नीलामी रखी गई है। कुल दुकानें 7664 हैं।

जयपुर

Published: April 27, 2022 11:04:24 am

जयपुर
राजस्था में ऐसा पहली बार हो रहा है कि शराब की दुकानों के लिए ठेकेदारों की दीवानगी कम हो रही है, ऐसा पहली बार हो रहा है कि सरकार ठेकेदारों को बुला बुलाकर शराब के ठेके जारी कर रही है लेकिन बहुत से ठेकेदार हैं कि शराब के ठेके लेने को ही तैयार नहीं है। दरअसल इस बार की आबकारी नीति में सरकार ने ठेकेदारों पर इतनी नकेल कस दी है कि एक साल में करोड़पति बनाने वाला यह धंधा अब रोडपति बनाने की दिशा में चल पडा है। यही कारण है कि सरकार एक महीने में भी शराब की 25 फीसदी तक दुकानें नहीं बेच सकी है। करीब 1900 दुकानों के लिए कल यानि 28 अप्रेल को फिर से नीलामी रखी गई है। कुल दुकानें 7664 हैं।
liquor shops
पंद्रह हजार करोड़ रुपए कमाने का टारगेट रखा है सरकार ने
साल 2022-23 में शराब से कमाई करने का टारगेट सरकार ने 15000 करोड़ रुपए रखा है। यह टारगेट पिछले साल की तुलना में दो हजार करोड़ रुपए से भी ज्यादा है। सरकार पिछले तीन टर्म से हर साल टारगेट से कम ही कमा पा रही है लेकिन उसके बाद भी तीन साल से हर साल रेवेन्यू टारगेट बढ़ा रही है। अब लगातर बढ़ रहे टारगेट के चलते ठेकेदारों के लिए सख्त पॉलीसी बनाना शुरु कर दिया गया है। ऐसे में ठेकेदारों का मोह शराब से भंग होता दिख रहा है।
इसलिए हाथ खींच रहे हैं ठेकेदार शराब से
जयपुर में पंद्रह साल से ठेके ले रहे झोटवाड़ा निवासी महेश कुमार ने बताया कि सरकार इस बार सीधे दो साल की तय पाई कर रही है। जो ठेकेदार दस लाख की शराब साल में लेते थे उन पर 25 लाख रुपए तक की शराब लेने का दबाव बनाया जा रहा है। शराब बिके या नहीं इससे सरकार को फर्क नहीं। ठेकेदार को शराब उठानी ही होगी और नहीं उठाएगा तो जुर्माना भी देना होगा। उपर से सभी तरह के खर्च भी इस साल बढ़ा दिए गए हैं। इसलिए ठेकेदार हाथ खींच रहे हैं और दूसरे धंधों में उतर रहे हैं। उपर से शराब की कीमतों में मामूली भर बढ़ोतरी की गई है। सारा पैसा ठेकेदार के उपर ही लाद दिया गया है।
तीन बार रियायत देने के बाद भी 25 फीसदी दुकानें नहीं बिकी
आबकारी अफसरों ने बताया कि इस बार चौथी और आखिरी बार ई नीलामी रखी गई है जो कि कल है। इस बार अभी तक 25 फीसदी दुकानें यानि करीब 1900 दुकानें नहीं बिक सकी हैं। तीन बार रियायत भी जारी की गई है लेकिन उसके बाद भी ठेकेदार दुकानें लेने में रूचि नहीं दिखा रहे हैं। इस बार दुकानों की गारंटी राशि में दस फीसदी तक छूट दी गई है। यही छूट पहले भी करीब बीस फीसदी तक दी जा चुकी है।
जयपुर, उदयपुर, गंगानगर, अलवर , अजमेर सबसे ज्यादा खाली दुकानें
आबकारी अफसरों के अनुसार अजमेर में 111, भरतपुर में 47, चित्तौड में 93, डूंगरपुर में 3, अलवर में 102, भीलवाडा में 27, चुरु में 44, अनुमानगढ में 86, बांसवाउ़ा में 6, बीकानेर में 50, दौसा 27, जयपुर शहर 154, जयपुर ग्रामीण 47, बांरा में 83, बाडमेर में 64, बूंदी में 34, धौलपुर में 36, जैसलमेर में 24, जालोर 14, झालावाड़ 70, झुझुनूं 73, जोधपुर 74, करौली 29, कोटा 49, नागौर 43, पाली 45, प्रतापगढ़ 39, राजसमंद 18, सवाई माधोपुर 14, सीकर 61, सिरोही 36, गंगानगर 99, टोंक 61 और उदयपुर में 171 शराब की दुकानें बिक नहीं सकी हैं। इनके लिए अंतिम ई नीलामी कल रखी गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Bypoll results 2022 LIVE: आंध्र प्रदेश के आत्मकुर से YSRCP के मेकापति विक्रम रेड्डी जीते, यूपी की दोनों सीटों पर सपा पीछेMaharashtra Political Crisis: गुवाहाटी से ही रणनीति बनाने में जुटे बागी विधायक, दिल्ली पहुंच सकते हैं बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीसMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र के सियासी संग्राम में अब उद्धव की पत्नी रश्मि ठाकरे की हुई एंट्री, बागी विधायकों की पत्नियों से फोन पर की बातसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोहबिहार ड्रग इंस्पेक्टर के घर पर छापेमारी, 4 करोड़ कैश और 38 लाख के गहने बरामदAzamgarh Rampur By Election Result : रामपुर और आजमगढ़ में भाजपा और सपा के बीच कड़ा मुकाबला35 साल बाद कोई तेज गेंदबाज करेगा भारतीय टीम का नेतृत्व, एक साल के अंदर बदले 7 कप्तानमेरे पास ममता बनर्जी को मनाने की ताकत नहीं: अमित शाह
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.